कोरोना महामारी के बीच संसद का सत्र 14 सितंबर से होने जा रहा आरम्भ, ओम बिड़ला ने ली समीक्षा बैठक

कोरोना महामारी के बीच संसद का सत्र 14 सितंबर से आरम्भ होने जा रहा है. इस कारण से संसद सत्र की तैयारियों में तेजी आ गई है. लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने निर्देश देते हुए कहा है कि सत्र के दौरान सुरक्षा के माकूल बंदोबस्त हों. उन्होंने सत्र की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए एक मीटिंग भी की है.

उन्होंने CPWD और NDMC अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए कोरोना वायरस से बचाव को लेकर कई अहम् सुझाव भी दिए हैं. इस दौरान वहां लोकसभा महासचिव स्नेहलता श्रीवास्तव और राज्यसभा के महासचिव देशदीपक वर्मा भी उपस्थित थे.  कोरोना संक्रमण के कारण इस बार मानसून सत्र तक़रीबन 40 दिन देर से आरम्भ हो रहा है. संसद का मानसून सत्र 14 सितम्बर से एक अक्टूबर तक जारी रहेगा, जिसमें 18 सीटिंग होगी. इस बार शनिवार और रविवार को भी संसद की कार्यवाही बंद नहीं होगी.

उच्च सदन की कार्यवाही सुबह शुरू होगी, जिसमें चैयरमैन गैलरी, विज़िटर गैलरी को भी सांसदों के बैठने के लिए प्रयोग किया जाएगा. लोकसभा की कार्यवाही शाम को की जाएगी. आगामी सत्र के दौरान 11 अध्यादेशों को पास किया जाना आवश्यक है. इसमें महामारी रोग (संशोधन) अध्यादेश, दिवालियापन संहिता (संशोधन) अध्यादेश जैसे बड़े बिल शामिल है. सरकार ने इस बार सभी विपक्षी पार्टियों से बात कर, प्रश्नकाल और शून्यकाल को इस दफा संसद की कार्यवाही में शामिल नहीं किए जाने की बात भी कही है. इसके साथ ही पत्रकारों का प्रवेश भी लॉटरी सिस्टम से तय करने की बात कही है.

=>
LIVE TV