शिवरात्रि के दिन से शुरू करें कैलाश मानसरोवर का यात्रा, ऐसे करें अपनी तैयारी…

शिवरात्रि के दिन कैलाश मानसरोवर की यात्रा काफी खास मानी जाती है। शिव भक्तों के लिए कैलाश मनासरोवर की यात्रा का अपना अलग ही उद्देश्य होता है। शिव भक्ति में लीन होकर अपनी यात्रा करना बेहद की सुखमय होता है।

लेकिन कैलाश मानसरोवर की यात्रा इतनी आसान नहीं होती है. इस यात्रा में आपके स्वास्थ्य सहित कई अन्य फैक्टर होते हैं जिनपर ध्यान दिया जाना जरूरी होता है. कैलाश मानसरोवर की यात्रा सिर्फ शारीरिक यात्रा नहीं होती बल्कि एक मानसिक यात्रा भी होती है. लेकिन भगवान शिव के प्रताप से इस यात्रा को करने वाले लोगों में एक अलग ही तेज नजर आने लगता है. आज हम आपको इस यात्रा से जुड़ी एक यात्रा वृत्तांत बताने जा रहे हैं ताकी जब कभी आप ऐसी यात्रा करने की सोचें तो आपको पता रहे कि आपको क्या करना है और क्या नहीं करना है. ये कहानी है ए.डी. मिश्रा जी जो आपको अपनी यात्रा के सुखद अनुभव शेयर कर रहे हैं.

ॐ नमः शिवाय
भगवान भोलेनाथ की प्रेरणा से ही मन मे यह इच्छा प्रस्फुटित हुई कि उनके धाम कैलाश के दर्शन किये जांय .इस हेतु संभावनाओं पर विचार किया गया तो कुछ बातें सामने आयीं .मुख्य रूप से –
1- पासपोर्ट की आवश्यकता
2- अनुमानित धन की आवश्यकता
3- यात्रा में लगने वाला समय
4- यात्रा के साधन और
5- स्वयं का स्वास्थ्य
पासपोर्ट के बारे में सोचते हि, सरकारी सेवा में रहते हुए विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र आवश्यकता आयी. वर्ष 2014 में ही उसके लिए आवेदन किया. काफी किन्तु परन्तु के बाद NOC सही प्रारूप पर 2015 के शुरुआत में ही मिल पाई और सेवानिवृत्त (मई 2015 में) होते होते पासपोर्ट भी बन गया.

 

=>
LIVE TV