कानपुर बीएसए की शिक्षा स्तर सुधारने को नयी पहल, कुछ ही समय में दिखने लगा असर

REPORT- निखिल शुक्ला/कानपुर देहात

यूपी के कानपुर देहात में  शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने और शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिये बेसिक शिक्षा अधिकारी संगीता सिंह ने नई पहल शुरू की है बीएसए की नई पहल का असर अब दिखना शुरू हो गया है.

स्कूल चलो अभियान के पम्पलेट छपवाकर गाँव गाँव जाकर लोगो को दे रही है और अभिवावकों से संपर्क करके परिषदीय विद्यालयो में ज्यादा से ज्यादा बच्चों को भेजने की अपील कर रही है.

कानपुर BSA

तो वही गाँव के लोग प्राइवेट भी अब अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों के हटाकर सरकारी स्कूलों में भेजने की बात कर रहे है.

दरअसल कानपुर देहात की बीएसए संगीता सिंह को जनपद में शिक्षा व्यवस्था की गुड़वत्ता और बच्चों की संख्या में कमी को लेकर काफी समय शिकायते मिल रही थी.

जिसको लेकर चिंतित नजर आ रही बीएसए ने शिक्षा की गुड़वत्ता में सुधार के लिये निरीक्षण करने शुरू किये वही बच्चों की संख्या बढाने के लिये स्कूल चलो अभियान के पम्पलेट छपवाकर खुद बीएसए ने गाँव गाँव जाकर लोगो को पम्पलेट दे रही है और लोगो को परिषदीय विद्यालयो की गुडवत्ता के बारे में समझा रही है.

लोगो से भी अपील कर रही है कि अपने बच्चों को परिषदीय स्कूलों में भेजे और अच्छे टीचरों से शिक्षा प्राप्त करे साथ ही सभी निशुल्क सुविधा का लाभ ले इसी के चलते बीएसए के द्वारा आज अकबरपुर ब्लाक के नरिहा गाँव में प्राथमिक और जूनियर विद्यालय का निरीक्षण किया इसके बाद बच्चों और टीचरों के साथ संवाद कर उनकी समस्याओ की जानकारी ली.

इसके बाद स्कूली बच्चों द्वारा स्कूल चलो अभियान की रैली निकाल गाँव में भ्रमण किया गांव के लोगो को पम्पलेट देकर बच्चों को सरकारी स्कूल में भेजने की अपील की इसके बाद बीएसए द्वारा कई गाँवों में जाकर लोगो के घर घर पहुंची और पम्पलेट बाँट लोगो से अपील की.

आकाशीय बिजली की चपेट मे आने से युवक की मौत, तीन की हालत बेहद गंभीर

वही गाँव के लोगो ने बताया कि बीएसए द्वारा गाँव गाँव पहुंचकर लोगो को परिषदीय स्कूल में भेजने के लिये अपील कर रही है हम लोग अब अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूलों से हटाकर सरकारी स्कूलों में पढ़ाएंगे.

वही जिले की बीएसए संगीता सिंह ने बताया कि शिक्षा की गुड़वत्ता में सुधार लाने और बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिये पम्पलेट छपवाकर लोगो से मिल रही है और लोगो को अच्छे टीचरों के द्वारा अच्छी शिक्षा के साथ निशुल्क books , ड्रेस , जूते मोज़े टाई , भोजन की सुविधाओ के बारे में बताई , उनके इस तरह के प्रयास से जनपद के सभी टीचरों को ऐसा करना चाहिये जिससे शिक्षा व्यवस्था अच्छी होगी और बच्चों की संख्या भी बढ़ेगी.

=>
LIVE TV