कन्हैया अपनी किताब लिखेंगे, नाम होगा- बिहार टू तिहाड़

kanhaiya-kumar_5720770cf3f7aएजेंसी/ नई दिल्ली : राष्ट्रद्रोह के आरोप में तिहाड़ जेल में 20 दिन बिता कर आए जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार अब अपने अनुभवों पर किताब लिखेंगे- बिहार टू तिहाड़। इसमें बिहार से शुरु हुई उनकी जर्नी कैसे तिहाड़ तक पहुंची के बारे में बताएंगे।

इसके लिए उन्होने पब्लिशर्स के साथ एक कॉन्ट्रैक्ट भी कर लिया है। यह किताब जुलाई-अगस्त 2016 तक आ जाएगी, जो कि हिंदी व अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध होगी। उन्होने कहा कि हर दिन कुछ न कुछ नया आता है। संभवतः अगले सेमेस्टर से पहले ये किताब आ जाएगी।

जब कन्हैया से पूछा गया कि इस किताब के लिए उन्हें पैसे भी दिए गए, तो उन्होने हंसते हुए कहा कि स्टूडेंट्स को पैसे कौन देता है। बता दें कि कन्हाया अफ्रीकन स्टडीज में पीएचडी कर रहे है। कन्हैया ने बताया कि उनकी किताब में बड़े सामाजिक मुद्दों को उठाया जाएगा।

यह किताब उस लड़के की कहानी बताएगी, जो शोषण करने वाले समाज से संघर्ष कर जेएनयू पढ़ने आता है। जब कन्हैया से पूछा गया कि क्या वो पीएम और उनकी नीतियों की आलोचना करते रहेंगे। तो उन्होने कहा कि वो देश के पीएम है और उनसे कोई लड़ाई नहीं है।

जेएनयू में हुए देश विरोधी कृत्य के मामले में जेएनयू प्रशासन द्वारा सुनाई गई सजा के खिलाफ कन्हैया व कई अन्य छात्र आमरण अनशन पर बैठे है।

=>
LIVE TV