इस IAS ने प्रवासी महिला को पहनाई चप्पल,जानिए पूरी खबर…

गोरखपुर।उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले की आईएएस अफसर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अनुज मलिक ने मानवता की मिसाल पेश की है। आपको बता दें कि आज रविवार  अनुज मलिक ने को कालेसर जीरो प्वाइंट पर एक प्रवासी महिला को नंगे पैर जाते देखा तो उनसे रहा नहीं गया उन्होने तुरंत अपने आधिकारियो से प्रबंध कराने का निर्देश दिया , तुरंत ही मातहतों ने चप्पल उपलब्ध कराई जिसके साथ ही आईएएस अफसर अनुज मलिक ने खुद झुककर उस महिला के पांव के पास चप्पल रखी।

उन्होंने कुछ अन्य प्रवासी मजदूरों को भी चप्पल दीं। मजदूरों की पीड़ा महसूस कर उन्होंने चिलचिलाती धूप में खुद ही मजदूरों से मिलकर उन्हें खाने के पैकेट और पानी दिया। साथ ही उन्होंने बच्चों को फल उपलबध कराए।

जम्मू-कश्मीर में महंगी हुई शराब, अब मिलेगी इतने रूपये में…

यह पहला मौका नहीं है जब 2017 बैच की इस आईएएस अधिकारी का मानवीय चेहरा लोगों के सामने आया है। क्वारंटीन सेंटर में रखे गए लोगों का भी रोजाना हाल-चाल जानने और उन्हें जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के दौरान हाल ही में वे एक कोरोना संक्रमित के भी संपर्क में आ गईं थीं।

जांच रिपोर्ट आने तक 24 घंटे खुद को होम क्वारंटीन रखा मगर जैसे ही उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई, तत्काल फिर फिल्ड में निकलकर मोर्चा संभाल लिया। वह खुद अपने तहसील क्षेत्र सहजनवां का लगातार भ्रमण कर यह सुनिश्चित करती हैं कि कोई भूखे न सोने पाए।

लॉकडाउन के दौरान अनुज मलिक ने उद्योग शुरू करने में आ रही समस्याओं को दूर कर उद्यमियों की भी मदद की। उनके पति गौरव सिंह सोगरवाल भी आईएएस ऑफिसर हैं और मुख्यमंत्री के ही जिले में सदर तहसील के एसडीएम के पद पर तैनात हैं।

लॉकडाउन के दौरान लोगों की सहूलियत के लिए उनकी तरफ से शुरू की गई ऑनलाइन होम डिलीवरी पोर्टल के मॉडल के लिए न केवल प्रदेश सरकार बल्कि पीएमओ ने भी गौरव सिंह सोगरवाल की सराहना की।

 

=>
LIVE TV