इस विटामिन की कमी से बढ़ जाएंगी हार्ट की बीमारियों का खतरा, अस्थमा के मरीज को भी हो सकती है परेशानी

वर्तमान समय की जीवन शैली और डायट में लापरवाही की वजह से विटामिन की कमी से बहुत लोग परेशान होते हैं. शरीर में कई तरह के विटामिन की कमी हो जाती है जिसके कारण सेहत पर बुरा असर होता है. शरीर के लिए आवश्यक विटामिन में से एक विटामिन एन (N) होता है जिसकी कमी भी हेल्थ के लिए नुकसानदायक होती है. शरीर में अगर विटामिन एन सही मात्रा में रहता है तो अस्थमा और हार्ट की बीमारियों का खतरा नहीं रहता है.

vitamin N

अस्थमा से बचाव

विटामिन एन की पर्याप्त मात्रा अगर आप लेते हैं तो अस्थमा का खतरा नहीं होता है. ज्यादा से ज्यादा समय प्रकृति के पास रहने वाले लोगों में फेफड़े के रोग कम होते हैं.

ये आहार बना रहें हैं आपके शरीर को खोखला, बंद करें आज से ही इनका सेवन

विटामिन N के सेवन से मोटापा रहता है दूर

कई शोधों में इस बात की पुष्टि हो चुकी है जो लोग विटामिन एन की मात्रा सही से लेते हैं उनमें मोटापा नहीं होता है. जो लोग प्रकृति के पास ज्यादा रहते हैं उनका हेल्थ फिट रहता है और दिमागी स्तर भी बेहतर होता है.

 

हार्ट भी रहता है हेल्दी

जैसा की आप अब जान चुके हैं कि विटामिन एन प्रकृति के आस-पास रहने से मिलती है. जो लोग प्रकृति के पास रहते हैं उनमें हार्ट की बीमारियां बहुत कम होती हैं. प्राकृतिक स्थान पर घुमना और व्यायाम करने से इंसान हेल्दी भी रहता है.

जानिए नीति आयोग ने निकाला अकड़ा , इन राज्यों में घटीं बेटियों की संख्या…

याददाश्त रहती है बेहतर

शुद्ध हवा और वातावरण में रहने से मानसिक थकान से राहत मिलती है, जिससे आपकी याददाश्त और सीखने की क्षमता में सुधार होता है. एक अध्ययन अनुसार, करीब 50 मिनट के लिए प्रकृति के बीच समय बिताने वाले लोगों का प्रदर्शन स्मृति परीक्षण में बेहतर होता है.

=>
LIVE TV