इस फिल्म में दिखा पहला किसिंग सीन, देखकर दंग रह गए थे दर्शक…

आज भले ही ऑनस्क्रीन किसिंग को लोग एक आम सीन की तरह ट्रीट करने लगे हों लेकिन एक दौर ऐसा भी था जब अपने खुले विचारों के लिए पहचानी जाने वाली अमेरिकन सोसाइटी भी ऑनस्क्रीन किसिंग के चलते बेहद असहज हो जाती थी और ऐसे सीन्स को या तो बैन कर दिया जाता था या फिर इन सीन्स को लेकर कड़ी प्रतिक्रियाएं देखने को मिलती थीं. ऐसा ही कुछ पहले ऑनस्क्रीन किस को लेकर भी हुआ था.

साल 1896 में एक साइलेंट फिल्म आई थी. इस फिल्म का नाम ‘द किस’ था. ये दुनिया की पहली ऐसी फिल्म में शुमार थी जिसे जनता को कमर्शियल तौर पर दिखाया गया था. रिपोर्ट्स के अनुसार, इस फिल्म की शूटिंग कनाडा में हुई थी.

इस सीन में स्टेज म्यूजिकल ‘दि वीडो जोन्स’ के फाइनल सीन को दिखाने की कोशिश की गई थी जो एक किस सीन था. 18 सेकेंड्स लंबे इस सीन में दोनों सितारे पहले थोड़े असहज दिखे. फिर फिल्म के एक्टर ने मूंछों पर ताव देने के बाद एक्ट्रेस को किस किया था.

इस सीन में स्टेज म्यूजिकल ‘दि वीडो जोन्स’ के फाइनल सीन को दिखाने की कोशिश की गई थी जो एक किस सीन था. 18 सेकेंड्स लंबे इस सीन में दोनों सितारे पहले थोड़े असहज दिखे. फिर फिल्म के एक्टर ने मूंछों पर ताव देने के बाद एक्ट्रेस को किस किया था.

इस फिल्म को एडिसन स्टूडियोज ने प्रोड्यूस किया था. वही थॉमस एडिसन जिन्होंने पहली बार बल्ब का आविष्कार भी किया था. थॉमस एडिसन का ये स्टूडियो साल 1894 में बना था. वही इस फिल्म को अमेरिका के सिनेमाटोग्राफर विलियम हेज ने डायरेक्ट किया था. विलियम ने उस दौर में 175 साइलेंट फिल्मों का निर्देशन किया था.

थॉमस एडिसन के इस प्रोजेक्ट को लेकर ऑडियन्स ने काफी पॉजिटिव प्रतिक्रियाएं दीं. फिल्म के एक्टर जॉन राइस जब एक बार अपनी एक्ट्रेस पत्नी के साथ स्टेज पर पहुंचे तो उनसे एक बार फिर लाइव किस सीन को रिक्रिएट करने के लिए कहा गया था. जब उनकी पत्नी ने ऐसा करने से मना कर दिया तो ऑडियन्स में मौजूद एक महिला ने उनकी जगह लेने की रिक्वेस्ट की थी. इसके बाद भले ही बेहतर वीडियो क्वालिटी के साथ कई आइकॉनिक किसिंग सीन्स रिलीज हुई लेकिन इस सीन को आज भी सिनेमैटिक माइलस्टोन माना जाता है.

हालांकि इस ऑनस्क्रीन किस को अक्सर एक और किस के साथ फिल्मी विशेषज्ञों द्वारा कंफ्यूज किया जाता रहा है और साल 1900 में फिल्माए गए इस सीन को पहला ऑनस्क्रीन किस समझा जाता रहा है. खास बात ये है कि ये किस भी एडिसन के न्यूयॉर्क शहर में मौजूद स्टूडियो में फिल्माया गया था और इसे जल्द ही ज्यादातर थियेटर्स में बैन कर दिया गया था. इस सीन में मौजूद सितारों की पहचान भी पब्लिक नहीं हुई है.

साल 1896 में फिल्माई गई फिल्म की लोकप्रियता ऐसी थी कि दो साल बाद यानि साल 1898 में ब्लैक परफॉर्मर्स सेंट सट्टल और गर्टी ब्राउन भी ऐसे ही कॉन्सेप्ट में नजर आए थे. दोनों सितारे एक शॉर्ट फिल्म में साथ दिखे थे. इस फिल्म का नाम समथिंग गुड- निग्रो किस था. ये पहली ऐसी फिल्म थी जिसमें अश्वेत अमेरिकन्स किसिंग करते दिखे थे. साल 2017 में फिल्म इतिहासकारों ने इस फुटेज को खोज निकाला था. इस फुटेज को एक श्वेत अमेरिकन विलियम सेलिग ने शिकागो में शूट किया था.

जहां ऑडियन्स का एक बड़ा हिस्सा इस सीन को लेकर पॉजिटिव प्रतिक्रियाएं दे रहा था वही समाज के एक तबके ने उस दौर में इस किस को बेहद शॉकिंग और पोर्नोग्राफिक करार दिया गया था और इस सीन को लेकर रोमन कैथोलिक चर्च ने सेंसरशिप की बात भी कही थी. कई अखबारों में भी इस सीन की जबरदस्त आलोचना की गई थी और ये भी कहा गया था कि जहां-जहां इस फिल्म को दिखाया जा रहा है वहां पुलिस को तुरंत एक्शन लेना चाहिए.

=>
LIVE TV