Saturday , October 21 2017

ISIS ने तबाह किये 42 लाख सुन्नी मुस्लिम परिवार, गाजी मोहम्मद ने बताया सुनामी  

 

इस्लामिक स्टेटवॉशिंगटन। सुन्नी आतंकी संगठन होने के बावजूद इस्लामिक स्टेट (ISIS) की वजह से सबसे ज्यादा नुकसान सुन्नी मुसलमानों को हुआ है। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने जब से इराक और सीरिया के हिस्सों पर कब्जा किया है शायद ही किसी धर्म के लोग हों जो इसके अत्याचार से बचे हों। शिया मुस्लिम, कुर्द, ईसाई और यजीदी हमेशा आईएस की क्रूरता का निशाना रहे हैं।

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के सेनापती ने पाक को दिखाई औकात, अब होगी सबसे बड़ी जंग

खबरों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट की लड़ाई की वजह से इराक में बेघर हुए लोगों में से 42 लाख सुन्नी मुसलमान हैं। इराक के मोसुल में सबसे ज्यादा संख्या में सुन्नी मुसलमान रहते हैं, लेकिन इराकी सेना की चढ़ाई के बाद कई गांव तबाह हो गए और कई सुन्नियों की जान चली गई। इसी तरह सीरिया के रक्का में इस्लामिक स्टेट का कब्जा है लेकिन वहां भी सबसे ज्यादा नुकसान सुन्नी समुदाय ही झेल रहा है।

यह भी पढ़ें : चीन, रूस और अमेरिका ही नहीं, सब पीछे, पीएम मोदी बने विश्व विजेता

उत्तरपश्चिमी इराक के रबिया शहर में सुन्नी समुदाय के नेता शेख गाजी मोहम्मद हमोद का कहना है कि आईएसआईएस एक सुनामी था जिसने सुन्नियों को तबाह कर दिया। हमने सब कुछ खो दिया। हमारा घर, हमारा काम, हमारी जिंदगी।

=>
LIVE TV