इन 6 तरह के खाने से शरीर में तेजी से बढ़ता है ‘व्हाइट ब्लड सेल्स’

अगर आपके शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स की संख्या कम हो जाती है, तो इंफेक्शन और बीमारियों का खतरा बहुत बढ़ जाता है। व्हाइट ब्लड सेल्स का निर्माण बोन मैरो में होता है। ये इम्यून सिस्टम यानि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए जरूरी सेल्स होते हैं। इनकी कमी से शरीर के बीमारियों की चपेट में आने की संभावना बढ़ जाती है और शरीर वायरस और बैक्टीरिया से अपनी रक्षा मुश्किल से कर पाता है।

व्हाइट ब्लड सेल्स

एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में एक माइक्रोलीटर खून में 4500 से 11,000 व्हाइट ब्लड सेल्स होते हैं। अगर किसी व्यक्ति के शरीर में एक माइक्रोलीटर खून में 3,500 से कम ब्लड सेल्स हैं, तो शरीर कई तरह के रोगों का शिकार हो सकता हैं। कुछ ऐसे आहार (फूड्स) हैं, जो शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स को बढ़ाते हैं। अगर आप इन आहारों का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाएगी।
खट्टे फल
लगभग सभी खट्टे फलों में विटामिन सी भरपूर पाया जाता है। विटामिन सी आपके शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है इसीलिए डॉक्टर्स मानते हैं कि खट्टे फलों को खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है। नींबू, अंगूर, संतरा, मौसमी, स्ट्रॉबेरी, जामुन, आम आदि सभी फलों का सेवन आपके लिए फायदेमंद है। विटामिन सी शरीर में स्टोर नहीं हो सकता है इसलिए इसका रोजाना सेवन जरूरी है।
अदरक और लहसुन जरूर खाएं
अपने रोज के खाने में अदरक और लहसुन का प्रयोग जरूर करें। इन दोनों में ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और व्हाइट ब्लड सेल्स की मात्रा बढ़ाने वाले तत्व होते हैं। अदरक शरीर में ‘इन्फ्लेमेशन’ घटाने में मदद करता है। लहसुन में एलिसिन नामक तत्व भी होता है, जो शरीर को इन्फेक्शन और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। प्रतिदिन भोजन में लहसुन का इस्तेमाल करने से पेट के अल्सर और कैंसर से बचाव होता है और सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या भी बढ़ती है।

तेज धमाके के साथ ब्वायलर फट जाने से फैक्टरी में काम कर रहे मजदूर की मौत, बनाया जाता है कलर
रोज खाएं 8-10 बादाम
बादाम आपके शरीर और स्वास्थ्य के लिए सेहतमंद माना जाता है। अगर आप शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स की मात्रा बढ़ाना चाहते हैं, तो रोजाना 8-10 बादाम जरूर खाएं। रात में सोने से पहले बादाम को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इसके छिलकों को उतारकर कच्चा ही खाएं। बादाम में विटामिन ई और घुलनशील फाइबर होता है, जो आपको सेहतमंद रखता है।
हल्दी बचाए बड़े रोगों से
खाना बनाने में हल्दी का प्रयोग जरूर करें। हल्दी आपको कई बड़े रोगों जैसे ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डियों की कमजोरी), कैंसर और ब्लड प्रेशर से बचाती है। हल्दी में मौजूद कर्क्युमिन तत्व एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है, तो रोगों से आपके शरीर की रक्षा करता है।

सब्जियां हैं सेहत का खजाना
विटामिन व खनिज अधिक मात्रा की वजह से आहार में सब्जियां बहुत महत्वपूर्ण होती हैं। इनसे लौह तत्व, विटामिन-ए, विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन-सी, कैल्शियम और फाइबर अच्छी मात्रा में मिलता है। इन में शक्तिशाली एंटीओक्सीडेनट्स होते हैं जो सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या बढ़ाते हैं जिससे कैंसर का कारण बनने वाले फ्री रेडिकल्स नहीं बढ़ पाते हैं।

लागू हो चुकी है आचार संहिता, भूलकर भी न करें सोशल मीडिया पर ये गलती, जाना पड़ सकता है जेल…

दूध और दही का सेवन
दही में दूध के मुकाबले कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है। दही के बैक्टीरिया तथा पोषक तत्व शरीर के लिए एंटीबायोटिक का कार्य करते हैं रोगों से लड़ने की क्षमता भी प्रदान करते हैं। दही के रोजाना सेवन से शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता और सफेद रक्त कोशिकाएं की संख्या बढ़ती है।

=>
LIVE TV