इंटरनेश्नल मेकर्स भी बनाना चाहते हैं हनी सिंह की जिंदगी पर फिल्म, बताई अपनी दो सालों की कहानी…

जब बात नए ट्रेंडिंग गानों की आती है तो उसमें हम रैपिंग को जरुर शामिल करते हैं. उसके बिना आजकल के युवाओं को गाने में मज़ा नहीं आती है. और जब बात रैपिंग की हो तो भारत को रैपिंग की दुनिया से रुबरु कराने वाले  रैपर गायक हनी सिंह को कोई कैसे भूल सकता है. हनी सिंह अपने गानों और रैपिंग की वजह से पूरे भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में मशहूर हुए हैं.

honey singh

हालांकि जितने रंगीन उनके गाने रहे हैं उतनी रंगीन उनकी जिंदगी भी रही है जिसमें उतार-चढ़ाव कम नहीं थे. हर कोई उनकी जिंदगी में आए अच्छे और बुरे पलों के बारे में जानता है. लोगों की उनकी जिंदगी में रुचि देखते हुए अब उनकी लाइफ पर बायोपिक बनने की बात सामने आ रही है. हनी सिंह को लगातार इससे जुड़े हुए ऑफर आया करते हैं। राष्ट्रीय ही नहीं बल्कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी मेकर्स उनकी जिंदगी को फिल्माना चाहते हैं। लेकिन वह अभी खुद को इस के लिए तैयार नहीं मानते हैं। हनी सिंह ने इस विषय पर कई दिलचस्प खुलासे किए हैं।

 

 

कोरोना से निपटने के लिए कॉमेडियन भारती सिंह को मिली वैक्सीन, बता रहीं हैं इस वीडियो के जरिए…

 

बायोपिक को लेकर मिल रहे ऑफर्स पर उन्होंने कहा, ‘बहुत सारे लोगों ने इस बारे में मुझसे बात की है। विभिन्न प्रोडक्शन हाउस से इस विषय को लेकर मेरे पास ढेरों कॉल भी आ चुकी हैं। दो ऑफर तो अंतराष्ट्रीय प्रोडक्शन हाउस से भी आए हैं। लेकिन मैं अभी इसके लिए तैयार नहीं हूं। अभी मुझे बहुत कुछ हासिल करना है। मेरी कहानी अभी बाकी है। मैं इसपर फिल्म बनाऊंगा लेकिन जब यह पूरी हो जाएगी।’

 

साल 2017 में हनी सिंह मानसिक रूप से पूर्णतया स्वस्थ नहीं थे। इस बारे में उन्होंने बताया, ‘मैं कभी रिहेब सेंटर नहीं गया था। करीब दो सालों तक घर पर ही मेरा इलाज चला था। इस दौरान मैंने कुछ गाने भी लिखे जिन्हें मैं एक एक करके रिलीज करूंगा। मुझे लगता है कि मेरे बीमार होने का एक अच्छा कारण रहा। अब जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मुझे खुशी होती है।’

 

हनी सिंह के गानों पर अक्सर आरोप लगता है कि वे आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं।  इस बारे में उनका मानना है, ‘होटल, क्लब और पब जैसी जगहों पर शराब मौजूद रहती है। सड़कों पर शराब की दुकाने भी होती हैं। जब शराब हमारी अर्थव्यवस्था और समाज का एक अहम हिस्सा है तो मैं इस बारे में लिख क्यों नहीं सकता हूं।’ गानों के केन्द्र में युवाओं के रहने को लेकर उन्होंने बताया, ‘मेरे कई दोस्त हैं जो मुझे मौजूदा समय में आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली भाषा के बारे में बताते रहते हैं। सोशल मीडिया भी यह जानने में मदद करता है कि लोग क्या सुनना चाहते हैं और किस बारे में बात करना चाहते हैं।’

=>
LIVE TV