आने वाली है ऐसी गोली, जितना भी खाओ मोटे नहीं होंगे…

विश्वविद्यालय ने मोटापे से निपटने के तरीकों की तलाश करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार से धन प्राप्त किया है साथ ही इसका एक तरीका भी निकाला है।

प्रोफेसर कीटिंग ने कहा कि परिणाम दिखाते हैं कि ‘हम लड़ाई में फिर से मोटापा में वास्तविक अंतर डाल सकते हैं’।

शोधकर्ताओं ने चूहों को आरसीएएन 1 जीन को विभिन्न अलग-अलग आहारों को खो दिया, जिसमें वजन घटाने के कारण उच्च वसा वाला विचार शामिल था।

गोली

आठ सप्ताह तक और छह महीने तक आहार का पालन किया। प्रत्येक बार अवधि समान परिणाम उत्पन्न करती है।

शोधकर्ताओं की टीम के अनुसार, आरसीएएन 1 को अवरुद्ध करने से अस्वास्थ्यकर सफेद वसा को स्वस्थ भूरे रंग के संस्करण में बदलने में मदद मिलती है।

मानव शरीर में दो प्रकार की वसा होती है – ब्राउन वसा ऊर्जा जलती है, जबकि सफेद वसा ऊर्जा भंडार करती है।

मोटापा कम से कम एक दर्जन प्रकार के कैंसर के जोखिम को बढ़ाने के लिए जाना जाता है, और यह टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग भी पैदा कर सकता है।

कैलोरी और व्यायाम पर वापस काटना वजन घटाने में सहायता कर सकता है लेकिन दवा कंपनियां एक गोली की तलाश में हैं जो वजन घटाने का मुकाबला कर सकती है।

हाल के वर्षों में भूख कम करने वाली दवाओं का परीक्षण किया गया है, और इस गर्मी में वजन प्रबंधन के ‘पवित्र अंगूर’ को भी लेबल किया गया था।

लेकिन एक गोली जो आरसीएएन 1 को खटखटाती है, वह लोगों को आराम करने के दौरान और अधिक कैलोरी जला देती है – और उनकी भूख को प्रभावित नहीं करती है।

प्रोफेसर कीटिंग ने कहा: ‘इसका मतलब है कि शरीर में भोजन की खपत को कम करने या व्यायाम करने की आवश्यकता के बिना शरीर कम वसा जमा करेगा।’

निष्कर्ष वैज्ञानिक जर्नल यूरोपीय आण्विक जीवविज्ञान संगठन (ईएमबीओ) रिपोर्ट में प्रस्तुत किए गए थे।

इस साल की शुरुआत में खराब आंकड़े बताते हैं कि मोटापे की दर अमेरिका में रिकॉर्ड उच्च है, लगभग 40 प्रतिशत वयस्कों को मोटापे के रूप में वर्गीकृत किया जा रहा है।

अलग-अलग शोध ने ब्रिटेन को यूरोप में तीसरा सबसे बड़ा राष्ट्र माना है, जिसमें 27.8 प्रतिशत 30 से अधिक बीएमआई हैं।

और अन्य चिकित्सा समीक्षाओं ने चेतावनी दी है कि दुनिया की लगभग एक चौथाई आबादी 30 साल से भी कम समय में मोटापे से ग्रस्त होगी।

इस संकट ने बच्चों की कमर पर भी असर डाला है, जिसमें पांच युवाओं में से एक के बारे में सुझाव देने वाले आंकड़े यूके और अमेरिका में मोटापे से ग्रस्त हैं।

 

=>
LIVE TV