सोमवार , जून 18 2018

आज का इतिहास : देश ने खोया एक प्रसिद्ध कवि

आज का इतिहासजीवनानन्द दास का जन्म 17 फ़रवरी, 1899, बंगाल में हुआ था। ये बांग्ला भाषा के प्रसिद्ध कवि और लेखक थे। वे ऐसे बांग्ला कवि थे, जिन्होंने कविता में वर्णनात्मक शैली के स्थापत्य का सूत्रपात किया। उनके उपन्यास और कहानियाँ बांग्ला क्षेत्र के लोगों के बीच ख़ास स्थान रखते हैं। उन्हें 1955 में मरणोपरांत श्रेष्ठ कविता के लिए ‘साहित्य अकादमी पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था। जीवनानन्द दास जी की कविता ने रवींद्रनाथ के बाद बांग्ला समाज की कई पीढ़ियों को चमत्कृत किया। उनकी कविता ‘बनलता सेन’ तो मानो अनिवार्य रूप से कंठस्थ की जाती रही है। इनकी मृत्यु 22 अक्टूबर, 1954, कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुई।

आज का इतिहास

22 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1796 – पेशवा माधव राव द्वितीय ने आत्महत्या।

1867 – नेश्नल यूनिवर्सिटी आॅफ कोलंबिया की आधारशिला रखी गयी।

1875 – अर्जेंटिना में पहले टेलीग्राफिक कनेक्शन की शुरुवात।

1879 – ब्रिटिश शासन के खिलाफ पहला राजद्रोह का मुकदमा बसुदेव बलवानी फड़के के खिलाफ।

1883 – न्यूयार्क में ओपेरा हाउस का उद्घाटन हुआ।

1962 – भारत की सबसे बड़ी बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना ‘भाखड़ा नांगल’ राष्ट्र को समर्पित की गई।

1964 – फ्रांसीसी दार्शनिक और लेखक ज्यां पाल सार्त्र ने नोबेल पुरस्कार ठुकराया।

1975 – ‘वीनस-9’ अंतरिक्षयान का शुक्र ग्रह पर अवतरण।

तुर्की के राजनयिक की वियना में गोली मारकर हत्या।

2004 – अंकटाड रिपोर्ट के अनुसार विदेशों में निवेश में भारत 14वें स्थान पर। सीका सम्मेलन में सदस्य देशों ने आतंकवाद से मिलकर निपटने का संकल्प व्यक्त किया।

2006 – अफ़ग़ानिस्तान में अधिक नशीली दवाएँ जब्त की गईं।

2007 – चीनी राष्ट्रपति हू जिंताओ ने लगातार दूसरी बार सत्तारूढ़ चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी की कमान सम्भाली।

2008 – इसरो ने भारत के पहले चंद्रयान मिशन चंद्रयान-1 का प्रक्षेपण किया। इस मिशन से चंद्रमा पर पानी के होने का पता लगा।

श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से चन्द्रयान-1 का सफल प्रक्षेपण किया गया।

2014 – माइकल जेहाफ बिडायु ने ओटावा में कनाडा के संसद पर हमला किया, जिसमें एक सैनिक की मौत हो गयी और तीन अन्य घायल हो गये।

22 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति

1873 – स्वामी रामतीर्थ – हिन्दू धार्मिक नेता थे, जो अत्यधिक व्यक्तिगत और काव्यात्मक ढंग के व्यावहारिक वेदांत को पढ़ाने के लिए विख्यात थे।

1900 – अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ – भारत के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी।

1937 – कादर खान, प्रसिद्ध हिन्दी और उर्दू फ़िल्म अभिनेता।

1903 – त्रिभुवनदास कृषिभाई पटेल – सामुदायिक नेतृत्व

22 अक्टूबर को हुए निधन

1680- महाराणा राजसिंह – मेवाड़

1954 – ठाकुर प्यारेलाल सिंह – छत्तीसगढ़ में ‘श्रमिक आन्दोलन’ के सूत्रधार तथा ‘सहकारिता आन्दोलन’ के प्रणेता।

1893 – दलीप सिंह – पंजाब के महाराज रणजीत सिंह का सबसे छोटा पुत्र।

1933 – विट्ठलभाई पटेल – सरदार पटेल के बड़े भाई एवं प्रसिद्ध स्वतन्त्रता सेनानी।

1986 – ये जियानयिंग – चीन में सेना प्रमुख के अध्यक्ष थे।

=>
LIVE TV