आज का इतिहास : इस दिन को नहीं दोहराना चाहेगा हिन्दुस्तान

आज का इतिहासहर दिन-हर तारीख कुछ कहती है। इतिहास के पन्ने इन तारीखों की याद दिलाते हैं ताेे क्यों न इन पन्नों का पलटकर देखा जाए। आज तेलंगाना राज्य के स्थापना दिवस के साथ इसकी शुरुआत कर सकते हैं। जानिए तीन जून यानी आज का इतिहास क्या कहता है।

आज का इतिहास

1918 – गांधी जी की अध्यक्षता इन्दौर में ‘हिन्दी साहित्य सम्मेलन’ आयोजित हुआ और उसी में पारित एक प्रस्ताव के द्वारा हिन्दी राजभाषा मानी गयी।

1984 – ऑपरेशन ब्लू स्टार शुरू हुआ था। अमृतसर के हरमंदिर साहिब गुरुद्वारे यानी स्वर्ण मंदिर पर भारत सरकार के आदेश से यह सैनिक अभियान शुरू किया गया।

1994 – भारत सहायता क्लब का नया नाम ‘भारत सहायता मंच’ किया गया।

1999 – हावरक्राफ़्ट विमानों के अविष्कारक क्रिसटोफ़र काकरैल का निधन, यूगोस्लाविया द्वारा कोसोवो शांति योजना को मंजूरी, मिस्र के राष्ट्रपति हुश्नी मोबारक लगातार चौथी बार राष्ट्रपति चुने गये।

2004 – केन फ़ोर्ड नासा के अंतरिक्ष खोज पैनल के नेतृत्वकर्ता बने।

2005 – फ़्रांस ने सुरक्षा परिषद में भारत की दावेदारी का समर्थन दुहराया।

2008 -तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष के. चन्द्रशेखर राव ने उपचुनाव में क़रारी हार के बाद अपने पर से इस्तीफ़ा दिया। केन्द्र सरकार ने सीमेंट निर्यात पर रिफंड को दी गई मंज़ूरी वापस ली।

2008 -जापानी प्रयोगशाला के साथ अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का डिस्कवरी यान अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पहुँचा। वैज्ञानिकों को सौर परिवार के बाहर अब तक का सबसे छोटा ग्रह मिला।

3 जून को जन्मे व्यक्ति

1895 – पणीक्कर, के. एम. – मैसूर (कर्नाटक) के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ, राजनीयक और विद्वान।

1844 – बालकृष्ण भट्ट – आधुनिक हिन्दी साहित्य के शीर्ष निर्माताओं में से एक।

LIVE TV