आखिर प्लाज्मा थेरेपी के बाद क्यों आवश्यक है कुछ सावधानियां…

पूरे विश्व में कोरोना वायरस खतरनाक साबित हो रहा है। वैज्ञानिकों की मानें तो कोरोना वायरस की काट अभी तक दुनिया के किसी भी देश के पास नहीं है। हर देश, शहर में अलग-अलग तरह से कोरोना का उपचार किया जा रहा है। उन्हीं मे से एक है ‘प्लाज्मा थेरेपी’। अब सवाल से उठता है कि क्या प्लाज्मा थेरेपी से इलाज हो जाने के बाद कोरोना का खतरा पूरी तरह से टल जाता है या उस खतरने को रोकने के लिए क्या-क्या सावधानियां रखने की जरुरत होती है।

प्लाज्मा थेरेपी के बाद किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? (Things to remember after plasma therapy) ऐसा माना जाता है कि किसी भी सर्जरी या ऑपरेशन के बाद का समय काफी संवेदनशील होता है, जिसमें पूरी सावधानी बरतनी चाहिए। यह बात प्लाज्मा थेरेपी पर भी लागू होती है क्योंकि इसके बाद लोगों में खतरे होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है। इस प्रकार, यदि किसी व्यक्ति ने हाल ही में इस थेरेपी को कराया है तो उसे इन 5 बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए ताकि वह जल्दी से ठीक हो सके-  अधिक मात्रा में पानी पीना- प्लाज्मा थेरेपी के बाद लोगों के शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इसके लिए इस थेरेपी को कराने वाले लोगों को अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए ताकि उन्हें यह समस्या न हो। थेरेपी वाली जगह पर बर्फ के टुकड़े का इस्तेमाल न करना- चूंकि, थेरेपी वाली जगह पर दर्द महसूस हो सकती है। इस कारण इस थेरेपी को कराने वाले लोगों को थेरेपी वाली जगह पर बर्फ के टुकड़े का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए ताकि यह दर्द न बढ़े। नशीले पदार्थों का सेवन न करना- प्लाज्मा थेरेपी के बाद लोगों को अपने खान-पान और सेहत पर विशेष ध्यान रखना चाहिए। अत: उन्हें नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि ये उनकी सेहत को खराब कर सकते हैं। दर्द निवारक दवाइयों का सेवन करना- किसी भी अन्य मेडिकल प्रोसिस की तरह प्लाज्मा थेरेपी के बाद भी लोगों को दर्द हो सकता है। इस प्रकार, इसे कराने वाले लोगों को दर्द निवारक दवाइयों का सेवन करना चाहिए ताकि यह दर्द कम हो सके। डॉक्टर के संपर्क में रहना- प्लाज्मा थेरेपी कराने वाले लोगों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि वे डॉक्टर के संपर्क में रहें। उन्हें समय-समय पर डॉक्टर से मिलना चाहिए ताकि उनकी सेहत का पता चल सके। यकीनन रूप से दुनियाभर में काफी सारी नई-नई बीमारियाँ देखने को मिलती हैं, जिनकी वजह से काफी सारे लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है। ऐसे ही हालात इस दौर में फैली कोरोनावायरस से सामने आ रहे हैं, जिसके चपेट में अमेरिका, चीन, इटली इत्यादि सभी बड़े-बड़े देश आ चुके हैं। भारत में इन्हीं देशों में शामिल हैं, लेकिन राहत की बात यह है कि भारत में इससे मरने वालों की संख्या थोड़ी कम है। भारत में प्लाज्मा थेरेपी के साथ दुनिया को कोरोनावायरस से ठीक होने की उम्मीद दी है, जिसके परीक्षण के परिणामों का इंतजार सभी लोगों को है। इसके अलावा, लोगों में भी प्लाज्मा थेरेपी को लेकर तरह-तरह की बातें सुनने को मिलती हैं, जिन्हें दूर करके उन्हें इस थेरेपी की सही जानकारी देने की कोशिश करनी की सख्त जरूरत है। इस प्रकार, हमें उम्मीद है कि आपको इस लेख को पढ़ने के बाद इस थेरेपी से जुड़ी आवश्यक जानकारी मिली होगी, जो आपके मन में कोरोनावायरस के प्रति फैले डर को कम करने में सहायक साबित होगी।

प्लाज्मा थेरेपी के बाद किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? 

ऐसा माना जाता है कि किसी भी सर्जरी या ऑपरेशन के बाद का समय काफी संवेदनशील होता है, जिसमें पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।
यह बात प्लाज्मा थेरेपी पर भी लागू होती है क्योंकि इसके बाद लोगों में खतरे होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है।
इस प्रकार, यदि किसी व्यक्ति ने हाल ही में इस थेरेपी को कराया है तो उसे इन 5 बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए ताकि वह जल्दी से ठीक हो सके-

अधिक मात्रा में पानी पीना- प्लाज्मा थेरेपी के बाद लोगों के शरीर में पानी की कमी हो सकती है।
इसके लिए इस थेरेपी को कराने वाले लोगों को अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए ताकि उन्हें यह समस्या न हो।
थेरेपी वाली जगह पर बर्फ के टुकड़े का इस्तेमाल न करना- चूंकि, थेरेपी वाली जगह पर दर्द महसूस हो सकती है।
इस कारण इस थेरेपी को कराने वाले लोगों को थेरेपी वाली जगह पर बर्फ के टुकड़े का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए ताकि यह दर्द न बढ़े।

नशीले पदार्थों का सेवन न करना- प्लाज्मा थेरेपी के बाद लोगों को अपने खान-पान और सेहत पर विशेष ध्यान रखना चाहिए।
अत: उन्हें नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि ये उनकी सेहत को खराब कर सकते हैं।

दर्द निवारक दवाइयों का सेवन करना- किसी भी अन्य मेडिकल प्रोसिस की तरह प्लाज्मा थेरेपी के बाद भी लोगों को दर्द हो सकता है।
इस प्रकार, इसे कराने वाले लोगों को दर्द निवारक दवाइयों का सेवन करना चाहिए ताकि यह दर्द कम हो सके।

डॉक्टर के संपर्क में रहना- प्लाज्मा थेरेपी कराने वाले लोगों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि वे डॉक्टर के संपर्क में रहें।
उन्हें समय-समय पर डॉक्टर से मिलना चाहिए ताकि उनकी सेहत का पता चल सके।
यकीनन रूप से दुनियाभर में काफी सारी नई-नई बीमारियाँ देखने को मिलती हैं, जिनकी वजह से काफी सारे लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है।
ऐसे ही हालात इस दौर में फैली कोरोनावायरस से सामने आ रहे हैं, जिसके चपेट में अमेरिका, चीन, इटली इत्यादि सभी बड़े-बड़े देश आ चुके हैं।
भारत में इन्हीं देशों में शामिल हैं, लेकिन राहत की बात यह है कि भारत में इससे मरने वालों की संख्या थोड़ी कम है।
भारत में प्लाज्मा थेरेपी के साथ दुनिया को कोरोनावायरस से ठीक होने की उम्मीद दी है, जिसके परीक्षण के परिणामों का इंतजार सभी लोगों को है।
इसके अलावा, लोगों में भी प्लाज्मा थेरेपी को लेकर तरह-तरह की बातें सुनने को मिलती हैं, जिन्हें दूर करके उन्हें इस थेरेपी की सही जानकारी देने की कोशिश करनी की सख्त जरूरत है।
इस प्रकार, हमें उम्मीद है कि आपको इस लेख को पढ़ने के बाद इस थेरेपी से जुड़ी आवश्यक जानकारी मिली होगी, जो आपके मन में कोरोनावायरस के प्रति फैले डर को कम करने में सहायक साबित होगी।

=>
LIVE TV