आखिर क्यों बदले गए फिल्म ‘तानाजी’ के संवाद और सीन, सेंसर बोर्ड ने लगाई रोक…

मुंबई। बॉलीवुड दुनिया के जाने माने अभिनेता अजय देवगन की फिल्म तानाजी द अनसंग वॉरियर 10 जनवरी को रिलीज़ हो रही है। अक्सर यह होता है कि ऐतिहासिक फ़िल्मों के लेकर विवाद हो जाते हैं ऐसे में सेंसर बोर्ड फिल्मों के रिलीज़ से पहले ही काफ़ी सतर्कता बरतने लगा है जिसका अंदाज़ा फिल्म तानाजी पर चली कैंची से हो रहा है। वहीं फिल्म तानाजी मराठा साम्राज्य और मुग़लों के बीच जंग की पृष्ठभूमि पर आधारित फ़िल्म है। इस फिल्म में अजय देवगन तानाजी मालुसरे के किरदार में नज़र आएंगे, जो मराठा सेना में सूबेदार थे।

तानाजी

इसके अलावा  बोर्ड ने जब तानाजी देखी तो उन्हें महसूस हुआ कि कुछ दृश्यों और डायलॉग्स से आपत्ति हो सकती है तो इन्हें हटाने के लिए कहा गया है। खबरों के अनुसार, एक दृश्य में सैफ़ अली ख़ान का किरदार उदयभान कहते है कि- और मैं सिर्फ़ राजपूत। इससे राजपूत शब्द हटा दिया गया है। गोली, नौकरानी और नीचा ख़ून था तू जैसे शब्द और लाइंस एडिट की गयी हैं। फ़िल्म का एक सीन था, जिसमें उदयभान को अपनी मां का क़त्ल करते दिखाया गया था। वही यह सीन भी एडिट कर दिया गया है। एक डायलॉग की डबिंग भी सैफ़ से दोबारा करवाई गयी, ताकि अर्थ का अनर्थ ना हो।

बिग बॉस के ट्विस्ट के आगे घर वालों की चाल हुई फेल, जानिए आखिर क्यों सब एक साथ हुए नॉमिनेट

इसके अलावा सीबीएफसी ने कई जगहों पर डिस्क्लेमर लगाने का निर्देश भी दिया हैं, जिनकी शुरुआत फ़िल्म शुरू होने के साथ ही हो जाती है। एक डिस्क्लेमर में यह कहा गया है कि फ़िल्म में मराठा शब्द का अर्थे मराठा समुदाय नहीं, बल्कि छत्रपति शिवाजी महाराज के सैनिकों को मराठा कहकर संबोधित किया गया है।

इसके साथ ही यह भी साफ़ किया गया है कि तानाजी- द अनसंग वॉरियर तानाजी मालुसरे के जीवन से प्रेरित काल्पनिक प्रदर्शन है। यह डिस्क्लेमर 30 सेकंड तक रहेगा।  तानाजी- द अनसंग वॉरियर को ओम राउत ने निर्देशित किया है। वही अजय देवगन के साथ काजोल भी हैं, जो सावित्रीबाई का किरदार निभा रही हैं। शरद केल्कर शिवाजी महाराज के रोल में दिखेंगे। वहीं, सैफ़ का किरदार नेगेटिव है।

=>
LIVE TV