आईसीसी की बोर्ड टेले-कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग आज, 3 विकल्पों पर हो सकती है चर्चा… आईपीएल का रास्ता होगा साफ

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की बोर्ड टेले-कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग आज होगी। इस साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप को कोरोना के कारण टालना है या नहीं, इसको लेकर फैसला हो सकता है। यह टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक होना है।

यदि वर्ल्ड कप टलता है तो अक्टूबर-नवंबर की इस खाली विंडो में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) होने की पूरी संभावना है। आईपीएल 29 मार्च से होना था, जिसे कोरोना के कारण अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया।

ऑस्ट्रेलिया अगले साल वर्ल्ड कप कराना चाहता है
सूत्रों के मुताबिक, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) अगले साल वर्ल्ड कप की मेजबानी करना चाहता है। इसके लिए उसने आईसीसी को पत्र भी लिखा था। हालांकि, इसके लिए बीसीसीआई को मनाना होगा, क्योंकि 2021 टी-20 वर्ल्ड कप भारत में होना है।

2018 में एक बार टल चुका है ऑस्ट्रेलिया में होने वाला टी-20 वर्ल्ड कप
2007 से शुरू हुए टी-20 वर्ल्ड कप का आयोजन हर 2 साल में होता है। लेकिन अन्य टूर्नामेंट्स के टकराव के कारण इसे 2009 और 2010 में लगातार कराया गया था। जबकि 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी के कारण ऑस्ट्रेलिया में होने वाले 2018 टी-20 वर्ल्ड कप को 2020 के लिए टाल दिया था। हालांकि, 2021 में भारत में टी-20 वर्ल्ड कप होना है। यह सभी शेड्यूल आईसीसी अपने फ्यूचर टूर प्रोग्राम (एफटीपी) के हिसाब से तय करता है।

बैठक में इन तीन विकल्पों पर चर्चा हो सकती है
सूत्रों की मानें तो आईसीसी की बैठक में वर्ल्ड कप को कराने के लिए कई विकल्पों पर चर्चा की जा सकती है। आईसीसी की इवेंट कमेटी के प्रमुख क्रिस टेटली ने कहा था कि इन विकल्प में से सबसे बेहतर यही है कि टूर्नामेंट को 2022 में ही कराया जाए।

पहला विकल्प है कि वर्ल्ड कप को 2021 में जनवरी से मार्च के बीच कराया जाए, लेकिन तब मार्च-अप्रैल में आईपीएल भी होगा। साथ ही जनवरी-मार्च में इंग्लैंड को भारत दौरे पर आना है। जहां 5 टेस्ट की अहम और बड़ी सीरीज खेली जाएगी। ऐसे में वर्ल्ड कप होना बेहद मुश्किल होगा।

अगले साल अक्टूबर में भारत में टी-20 वर्ल्ड कप होना है। ऐसे में दूसरा विकल्प यह है कि 2021 टूर्नामेंट की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया को दे दी जाए। जबकि भारत 2022 में वर्ल्ड कप करा सकता है। हालांकि, इस फैसले पर बीसीसीआई को मनाना मुश्किल होगा।

तीसरा विकल्प यह है कि ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड कप को 2022 में करा सकता है। इसके लिए कई खिलाड़ी और क्रिकेट बोर्ड भी तैयार हो जाएंगे। बशर्ते उस दौरान कोई आईसीसी इवेंट न हो।

आईसीसी ने वर्ल्ड कप टलने की बात को नकारा
आईसीसी प्रवक्ता ने कहा, ‘‘आईसीसी ने टी-20 वर्ल्ड कप टलने को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया है। टूर्नामेंट को लेकर शेड्यूल के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया में सभी तैयारियां चल रही हैं। यह विषय आईसीसी बोर्ड मीटिंग में एक एजेंडा रहेगा और इस पर कोई पुख्ता फैसला लिया जाएगा।’’

कोरोना के बीच 15 टीमों का टूर्नामेंट करना बेहद मुश्किल: ऑस्ट्रेलिया
हाल ही में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) प्रमुख केविन रॉबर्ट्स ने कहा था कि 15 टीमों को कोरोना के बीच ऑस्ट्रेलिया लाना और टूर्नामेंट कराना बेहद मुश्किल होगा। उन्होंने कहा था, ‘‘अभी इसके बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है। लेकिन हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं। आप नहीं जानते कि भविष्य में क्या संभव हो सकता है और क्या नहीं। टूर्नामेंट को लेकर पूरी तरह से आईसीसी को ही फैसला लेना है।’’

अब 37 दिन का हो सकता है आईपीएल शेड्यूल
इस बार आईपीएल 50 दिन की बजाए 44 दिन का होना था। सभी 8 टीमों को 9 शहरों में 14-14 मैच खेलने हैं। इनके अलावा 2 सेमीफाइनल, 1 नॉकआउट और 24 मई को वानखेड़े में फाइनल होना था, लेकिन बीसीसीआई अब इसका फॉर्मेट और छोटा करके 2009 की तरह 37 दिन का कर सकती है। 2009 में लोकसभा चुनाव के कारण आईपीएल दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था। यह पांच सप्ताह और दो दिन के अंदर खत्म हो गया था।

आईपीएल के लिए अक्टूबर-नवंबर सही विंडो
भारत का व्यस्त शेड्यूल भी आईपीएल के लिए बड़ी बाधा रहा है। इस साल सिर्फ अक्टूबर-नवंबर की विंडो ही शेड्यूल के हिसाब से आईपीएल के लिए सबसे बेहतर है। क्योंकि इस दौरान टी-20 वर्ल्ड कप के अलावा कोई सीरीज नहीं है। टूर्नामेंट से पहले अक्टूबर में भारत को ऑस्ट्रेलिया में 3 टी-20 ही खेलना है। वर्ल्ड कप के बाद नवंबर-दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया में ही 4 टेस्ट और 3 वनडे की सीरीज होना है।

भारत का व्यस्त शेड्यूल
टीम इंडिया को जून-जुलाई में श्रीलंका से उसी के घर में 3 वनडे और 3 टी-20 की सीरीज खेलनी है। इसके बाद अगस्त में जिम्बाब्वे दौरे पर 3 वनडे खेलने हैं। सितंबर में पाकिस्तान की मेजबानी में दुबई में एशिया कप होना है। सितंबर-अक्टूबर में इंग्लैंड भारत दौरे पर 3 वनडे और 3 टी-20 की सीरीज खेलेगी। ऐसे में यदि बीसीसीआई आईपीएल के लिए एक तरफा फैसला लेकर इन सीरीज को रद्द करता है, तो आईसीसी उसके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है।

=>
LIVE TV