आईएसएल-5 : अपनी जीत को बरकरार रखने उतरेगा बेंगलुरू

बेंगलुरू। बेंगलुरू एफसी ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में अब तक एक भी मैच नहीं हारा है। यह टीम निश्चित तौर पर 2019-एशियन कप के लिए होने वाले ब्रेक पर जाने से पहले अजेय रहना चाहेगी। बेंगलुरू एफसी लीग तालिका में टॉप पर है और अब जबकि गुरुवार को उसका सामना अपने घरेलू मैदान-श्री कांतिरावा स्टेडियम में दो बार के चैम्पियन एटीके के साथ होना है, सुनील छेत्री की कप्तानी में खेल रही यह टीम शीर्ष पर अपनी उपस्थिति और मजबूत करना चाहेगी।

सभी की निगाहें जॉन जॉनसन पर होंगी, जिन्होंने एक लम्बा समय इस टीम के साथ बिताया है और सात ही साथ युजेंसेन लिंगदोह पर भी होंगी, जिन्होंने बेंगलुरू को तीन सीजन तक सेवाएं दी हैं।

जॉनसन अब एटीके के अहम सदस्य हैं लेकिन लिंगदोह को एटीके के लिए इस सीजन में सिर्फ 23 मिनट मैदान पर बिताने का मौका मिला है।

बेंगलुरू एफसी को हालांकि जॉनसन और लिंगदोह की गैरमौजूदगी से कोई असर नहीं पड़ा है। लीग में इस टीम का डिफेंस सबसे कंजूस है। इस टीम के डिफेंस ने सिर्फ नौ गोल खाए हैं और अल्बर्ट सेरान तथा जुआनन बैकलाइन पर जबरदस्त साझेदारी निभाते हैं।

बेंगलुरू के कोच चार्ल्स कुआडार्ट ने कहा, “बीते सीजन में हमने 10 मैचों से 18 अंक जुटाए थे और इस सीजन में हमारे इतने ही मैचों से 24 अंक हैं। हमने इस सीजन में पांच मैच मीकू के साथ और पांच उनके बगैर खेले हैं। मीकू हमारे लिए बेहद अहम खिलाड़ी हैं लेकिन बाकी के खिलाड़ी भी अंक हासिल करने के लिए जोरदार मेहनत कर रहे हैं।”

मिडफील्ड में हर्मनजोत खाबरा निलम्बन के कारण एटीके के खिलाफ नहीं खेलेंगे। इससे कुआडार्ट को तीन विदेशी खिलाड़ियों-एरिक पार्टालू, जिस्को हर्नादेज औ्र दिमास डेल्गाडो को खिलाना होगा और बियोथांग होआकिप को मौका देना होगा।

एटीके ने अपने पिछले मैच में गुवाहाटी में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी को गोलरहित बराबरी पर रोका था। असल में चार में से उसके तीन मुकाबले गोलरहित ड्रॉ पर खत्म हुए हैं। यह टीम इस सीजन में गोल पर 100 से कम शॉट्स लगा पाई है।

अब जबकि उसका सामना बेंगलुरू से होना है, जिसका बैकलाइन काफी मजबूत है, एटीके को नई तरह की चुनौतियों का सामना करना होगा।

कोच स्टीव कोपेल ने कहा, “हम हर मैच जीतने की कोशिश् कर रहेहैं। हम अन्य बातों पर गौर करते ही नहीं। मैं नहीं जानता कि ड्रॉ कैसे खेला जाता है। मैं इसी फिलॉसॉफी पर कल के मैच के लिए मैदान पर अपनी टीम उतारूंगा।”

मशहूर हस्तियों ने इन अनोखें तरीकों से दी रजनीकांत को जन्मदिन की शुभकामनाएं

कोपेल की टीम के पास अच्छे डिफेंडर हैं। जॉनसन, आंद्रे बिके, गेरसन विएरा और प्रणॉय हल्धर को छका पाना किसी टीम के लिए आसान नहीं। वैसे बेंगलुरू की टीम ने इन दोनों के बीच हुए पहले मुकाबले में 2-1 से जीत हासिल की थी।

अडानी विल्मर सुपोषण को मिला गोल्ड स्टैंडर्ड अवार्ड, इस वजह से हुए सफल

कोपेल ने कहा, “मैं कठिन मैच की उम्मीद कर रहा हूं। यह टीम अजेय है। इस टीम का डिफेंस और ऑफेंस अच्छा है। यह हर टीम के लिए एक चुनौती है। हर टीम उसे हराने वाली पहली टीम बनना चाहती है। यह मुश्किल मैच होगा लेकिन हम कोशिश करेंगे।”

=>
LIVE TV