अमेरिका की घोषणा, भारत के साथ मिलकर करेंगे ये काम

वॉशिंगटन। यूएन की आतंकी लिस्ट में मसूद अजहर को शामिल करने की भारत की मांग को अमेरिका का साथ मिल गया है। अमेरिका ने घोषणा की है कि वह मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के लिए यूएन में भारत के साथ खड़ा होगा।

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का नाम वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल कराने के भारत के प्रयास को मजबूती मिली है। वह चारों तरफ से घिर रहा है। इससे पहले फ्रांस ने घोषणा की थी कि वह संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में प्रतिबंधित समूह के सरगना पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव ला रहा है। पिछले 10 वर्षों में यूएन में यह चौथा मौका होगा, जब इस तरह का प्रस्ताव पेश किया जाएगा।

बताते चलें कि जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ही ली है। साल 2009 और 2016 में भारत ने यूएन के सेक्शन कमिटी 1267 में अजहर पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव पेश किया था। यही आतंकी सरगना पठानकोट वायुसैनिक अड्डे पर जनवरी 2016 में हुए हमले का भी मास्टरमाइंड था। साल 2016 के प्रस्ताव में भारत के साथ P3 देश थे। उस समय अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने साथ दिया था।

राफेल मामले में अपने फैसले पर दोबारा विचार करेगा सुप्रीम कोर्ट, याचिका पर होगा पुनर्विचार…

2017 में इन्हीं P3 देशों ने यूएन में ऐसा ही प्रस्ताव पेश किया था। मगर, हमेशा की तरह चीन ने यूएन में प्रस्ताव मंजूर होने की राह में रोड़े अटका दिए थे। सूत्रों के मुताबिक इस बार भी यूएन का स्थायी सदस्य फ्रांस के प्रस्ताव का अन्य देश समर्थन करेंगे।

=>
LIVE TV