अब बदल गया है लूट का तरीका, हाथ-पैर के स्थान पर आया ‘गूगल रोडमैप’

रुड़की में आईआईएफएल लूट के प्रयास के मामले में गंगनहर पुलिस ने सोमवार शाम एक आरोपी को गोरखपुर उत्तर प्रदेश से दबोच लिया है। आरोपी ने रुड़की के अलावा देहरादून में हुई आईआईएफएल के कार्यालय में हुई लूट में भी गैंग का हाथ होना स्वीकार किया है।
गूगल रोडमैप

गोल्ड लोन कंपनियों को ही निशाना बनाने वाले इस गैंग के शातिरों ने गूगल मैप के जरिए दिल्ली में बैठकर पहले कई शहरों टारगेट की पड़ताल की। लूट का रोडमैप तैयार किया और फिर वारदात को अंजाम दिया।

उन्होंने देहरादून, रुड़की और बिहार के मुजफ्फरनगर में जिस हाईटेक तरीके से वारदात को अंजाम दिया, उसे जानकार पुलिस भी हैरान रह गई। रुड़की के गंगनहर थाना पुलिस ने गोरखपुर से एक बदमाश को गिरफ्तार किया है।

इस मामले में बदमाश से शुरुआती पूछताछ के आधार पर मिली जानकारी से आईजी गढ़वाल अजय रौतेला ने महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। उन्होंने बताया कि बदमाशों ने दिल्ली में बैठकर गूगल मैप के जरिये सभी वारदातों को अंजाम देने योजना बनाई थी।

अब बदल गया है लूट का तरीका, हाथ-पैर के स्थान पर आया ‘गूगल रोडमैप’

इस गैंग के सभी शातिर टेकसेवी है। उन्हें  मोबाइल, विभिन्न साफ्टवेयर, एप्स आदि की अच्छी जानकारी है। गूगल मैप के जरिये ही उन्होंने गोल्ड लोन कंपनियों के दफ्तरों को बतौर टारगेट चुना।यहां पहुंचने का रास्ता और वारदात के बाद बाहर निकलने की साजिश भी इसी आधार पर बनाई। बदमाशों ने मैप में ही देखा कि किस शहर में किस समय यातायात का कितना दबाव रहता है। शहर में सीसीटीवी कैमरों वाले चौराहों का भी आकलन बदमाशों ने गूगल मैप से ही लगाया।

इच्छाधारी नागिन से कम नहीं है ये लड़की, कारनामे जानकर डर से सहम जायेंगे आप..

मसलन बड़े चौराहे किस जगह हैं, वहां क्या दिक्कत आ सकती है ? सीसीटीवी कैमरों से बचकर किस जगह से निकला जा सकता है ? साजिश के मुताबिक उन्होंने वारदात को अंजाम दिया और बिना सुबूत छोड़े आसानी से निकल गए। यही कारण है कि देहरादून में बदमाशों का एक भी सीसीटीवी फुटेज पुलिस को नहीं मिला है।

इसी तरह वे मेरठ और बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में भी वारदात करके बच निकलने में कामयाब हुए थे। आईजी ने बताया कि बदमाश को 48 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर रुड़की लाया जा रहा है। इसके बाद ही उससे ज्यादा जानकारियां हासिल हो सकेंगी।

=>
LIVE TV