अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर होगा अब MP सरकार की महत्वाकांक्षी योजना चंबल प्रोग्रेस वे

मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना चंबल प्रोग्रेस वे का नाम अब अटल बिहारी वाजपेयी चंबल प्रोग्रेस वे होगा। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि पर इसकी घोषणा की। उन्होंने इसकी घोषणा करते हुए कहा, ‘अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि के अवसर पर हमने फैसला किया है कि ग्वालियर-चंबल के विकास को नई दिशा देने वाले चंबल एक्सप्रेसवे का नाम ‘अटल बिहारी वाजपेयी चंबल प्रोग्रेस वे’ होगा। भोपाल में उनकी दिव्य और भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी।’

पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज ने पुरानी यादों को ताजा करते हुए कहा कि वह गंजबासौदा में पंजाब मेल के स्टॉपेज के लिए स्वयं मेरे अनुरोध पर तत्कालीन रेलमंत्री के पास पहुंच गए थे। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जब मेरा एक्सीडेंट हुआ तो मैंने चुनाव न लड़ने का निर्णय लिया। मैंने  अटल बिहारी वाजपेयी से यह अनुरोध किया तो उन्होंने मेरी बात नहीं मानी। उन्होंने कहा कि तुम आज संकट में हो, मैं इस समय तुम्हारा साथ कैसे छोड़ सकता हूं?

अटल बिहारी वाजपेयी प्रोग्रेस वे की खास बात

बता दें कि इस एक्सप्रेस-वे का नाम शुरुआत में चंबल एक्सप्रेस-वे था। बाद में इसे चंबल प्रोग्रेस वे नाम दिया गया और अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसका नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी प्रोग्रेस वे कर दिया है। इस प्रोगेस वे के 85 किमी का हिस्सा राजस्थान राजस्थान सरकार बनवाएगी। इसे बनाने के लिए करीब 6 हजार करोड़ रुपए की लागत आएगी।

=>
LIVE TV