फीफा अंडर-17 विश्व कप की पहली महिला रेफरी ने सांझा किया अपना एक्सपीरियंस, बताई दिलचस्प बातें

फीफा अंडर-17कोलकाता। फीफा अंडर-17 विश्व कप टूर्नामेंट में पहली महिला रेफरी के तौर पर नजर आईं स्विट्जरलैंड की एस्थेर स्ताबुली ने कहा कि उन्होंने ग्रुप-ई में जापान और न्यू कैलेडोनिया के बीच खेले गए मैच का संचालन किसी अन्य रेफरी की भांति ही किया था। रविवार को जापान और कैलेडोनिया के बीच विवेकानंद युवा क्रीरांगन स्टेडियम में खेला गया मैच 1-1 से ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

NBA 2017-2018 : इस बार मैच देखने में आएगा दोगुना मजा, जानिए क्या होगा खास

फीफा द्वारा जारी एक बयान में स्ताबुली ने कहा, “यह मैच किसी अन्य मैच की तरह ही था। बाद में मुझे यह एहसास हुआ कि यह काफी खास था, लेकिन मेरी तैयारी के तहत मैंने इसे एक आम मैच की तरह ही लिया। खिलाड़ियों और अन्य सदस्यों ने मुझे एक आम रेफरी की तरह ही समझा।”

चौतरफा मुश्किलों से घिरे बेन स्टोक्स के लिए ‘भगवान’ बने स्टीव स्मिथ, वजह हैरान करने वाली

स्ताबुली ने कहा, “मुझे लगता है कि पुरुष और महिला रेफरी के एक मैच में होने से कोई बड़ा अंतर नहीं होता। सिर्फ प्रदर्शन देखा जाता है।”

टेबल टेनिस : भारत की सेलेना ने मिस्र में हासिल किया गोल्डन स्वीप

इस टूर्नामेंट में स्ताबुली के साथ अन्य छह महिला रेफरियों को शामिल किया गया। इस पहल की शुरुआत पिछले माह फीफा रेफरी समिति द्वारा की गई थी, ताकि फीफा के टूर्नामेंटों के स्तर में सुधार हो सके।

=>
LIVE TV