WHO ने दिन बड़ी चेतावनी, कोरोना में गिरावट देखने वाले देशों में फिर आ सकती है मरीजों की ‘बाढ़’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस संक्रमण में गिरावट देखने वाले देशों में फिर से मामले बढ़ सकते हैं। संगठन के अनुसार संक्रमण को रोकने के लिए लागू उपायों जल्द हटाने की कोशिश करने से इन देशों में कोरोना की दूसरी लहर देखने को मिल सकती है।

डब्ल्यूएचओ के हेल्थ इमर्जेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक, माइक रेयान ने सोमवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा कि वैश्विकतौर पर हम फर्स्ट वेव के बीच में हैं। असल में बीमारी अभी बढ़ ही रही है। उन्होंने पत्रकारों के बताया कि महामारी अक्सर लहरों की तरह आती है। इसका मतलब है कि उन जगहों पर आगे संक्रमण के आउटब्रेक की संभावना है, जहां मामले कम हो गए हैं। संक्रमण की दर एक बार फिर तेजी से बढ़ सकती है यदि संक्रमण को रोकने के उपायों में जल्द ढील दे दी गई।

रेयान ने कहा ‘हमें इस तथ्य से भी अवगत रहने की जरूरत है कि संक्रमण में कभी भी तेजी देखने को मिल सकती है। मामले में कमी देखकर हम यह मानकर नहीं चल सकते कि इसमें कमी ही देखने को मिलेगा। हमें संक्रमण की दूसरी लहर के लिए तैयार रहना चाहिए।’

सामान्य इन्फ्लूएंजा के मौसम में दूसरी लहर देखने को मिल सकती है

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार रेयान ने चेतावनी दी कि सामान्य इन्फ्लूएंजा के मौसम में दूसरी लहर देखने को मिल सकती है, जो रोग नियंत्रण के लिए चीजों को बहुत जटिल कर देगा। उन्होंने कहा कि यूरोप और उत्तरी अमेरिका के देशों को संक्रमण के एहतियाती उपायों को जारी रखना चाहिए, ताकि मामलों में इजाफा न हो और एकदम से दूसरी लहर देखने को न मिले। कई यूरोपीय देशों और अमेरिकी राज्यों ने हाल के हफ्तों में लॉकडाउन में ढील देने के लिए कदम उठाए हैं, जिससे बीमारी के प्रसार पर अंकुश लगा, लेकिन अर्थव्यवस्थाओं को भारी नुकसान पहुंचा।

=>
LIVE TV