Wednesday , October 17 2018

पर्ची पर लिख कर तीन तलाक देने वालों के साथ क्या करते है मुस्लिम धर्मगुरू?

रिपोर्ट- काशीनाथ शुक्ला

वाराणसी। ‘मुमताज़ अहमद ने शमीउल्लाह की लड़की शहाना बीबी को तलाक – तलाक – तलाक दिया। बारी – बारी – बारी तीन बार कहा’ यह लफ्ज़ उस पर्ची पर लिखा है, जो प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में एक 22 साल की विवाहिता को 19 सितम्बर को देकर पति द्वारा घर से मार पीट कर निकालने के बाद, पति के घर पहुंचे लड़की के पिता को दी गयी। जैतपुरा थानांतर्गत आये तीन तलाक के मामले से इस समय प्रशासनिक अमले में हड़कंप मचा हुआ। इस मामले की शिकायत परेशान परिजनों ने एसएसपी कार्यालय में गुहार लगायी है। इस मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

पीड़ित

इस सम्बन्ध में भुक्तभोगी शहाना बीबी ने बताया कि मेरा विवाह 12 फरवरी 2017 को मुमताज़ से हुई थी। शादी के बाद सब कुछ ठीक नहीं था। पहली ही विदाई पर मेरे ससुराल वालों ने मुझपर शादी में दिए गए उपहारों को लेकर तंज़ कसने शुरू किये।  उसके  बाद मुझ पर लगातार मेरे ससुर हाजी अंसार दबाव बनाने लगे कि मेरे लड़के को कारोबार करना है उसके लिए 5 लाख रूपये अपनी पिता से मांग कर लाओ। मैंने इस पर असमर्थता जतायी। थोड़े पैसे मैंने लाकर दिए। जैतपुरा निवासी शहाना बेगम के दहेज के लोभी ससुराल पक्ष ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। पीड़िता ने इस पूरे मामले में अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि उसके साथ बहुत जुल्म हुए हैं। पति हर वक्त मारता था,रात को जगा कर बैठा देता था। रमजान के मौके पर जब सहरी का वक्त होता था तो मुझे 5 मिनट पहले  बुलाया जाता था वह पेट भर के खा भी नहीं पाती थी।

शहाना बीबी ने बताया कि ससुराल पक्ष की लगातार मांग बढ़ती रही। हमें अक्सर खाना नहीं दिया जाता था, मारा भी जाता था। 22 सितम्बर को इन्होंने मुझे कमरे में बंद करके बहुत मारा और खाना भी नहीं दिया। उसके बाद मुझे 23 को घर से भगा दिया कि पैसा लेकर आओ वरना मत आना। मै किसी तरह घर पहुंची तो मेरे पिता यहां आये और कहा कि आप लोगों ने मेरी बेटी को मारा है हम थाने में जायेंगे तो मुमताज़ के पिता हाजी अंसार ने कागज़ की एक पर्ची मेरे पिता को थमा दी। जिसपर लिखा था, ‘मुमताज़ अहमद ने शमीउल्लाह की लड़की शहाना बीबी को तलाक – तलाक – तलाक दिया बारी – बारी – बारी तीन बार कहा।’

यह भी पढ़े: जुमले गढ़ने की बजाय सभी वर्गो के विकास पर होगा ध्यान: राहुल गांधी

वहीं अपनी बेटी के साथ हुए इस अन्याय के बारे में बात करते हुए पीड़िता के पिता समी उल्ला ने बताया कि उनके दामाद मुमताज हाजी अनुसार ने एक छोटे से कागज पर लिखकर भेजा था कि मुमताज़ अहमद ने शमीउल्लाह की लड़की शहाना बीबी को तलाक – तलाक – तलाक दिया बारी – बारी – बारी तीन बार लिख कर दिया।

=>
LIVE TV