UP के रायबरेली में गर्भवती महिला ने सड़क किनारे दिया बेटे को जन्म,फोन करने के घंटो बाद भी नहीं पहुंची थी एम्बुलेंस

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक गर्भवती महिला ने सड़क किनारे नवजात शिशु का जन्म दिया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ बताए गए हैं। इस दौरान यूपी की एम्बुलेंस सेवा 102 और 108 नंबर और यूपी पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 की पोल खुली। फोन करने बाद भी घंटो तक कोई मदद न मिली। इसपर गर्भवती बाइक पर सवार होकर ही पति के साथ चली। बीच रास्ते असहनीय पीड़ा होने पर ग्रामीण महिलाओं की मदद से नवजात को जन्म दिया। 

फोन करने बे बाद भी नहीं पहुंची एम्बुलेंस, पति की बाइक से निकली जिला अस्पताल 

मामला खीरो विकास क्षेत्र के गांव शंकर बक्सखेड़ा मजरे सगुनी का है। यहां की निवासनी गर्भवती पूनम गौतम को अचानक प्रसव पीड़ा हुई। पति रावेंद्र गौतम व सास के साथ बाइमें सवार होकर गर्भवती सीएचसी खीरों पहुंची। वहीं, सीएचसी सील होने के कारण उसे भर्ती नहीं किया जा सका। तभी पति ने गर्भवती पत्नी को जिला अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस सेवा 102 और 108 नंबर पर लगभग 10 बजे फोन किया। एक घंटे तक इंतजार करने के बाद भी एम्बुलेंस नहीं पहुंची। गर्भवती की पीड़ा बढ़ती देख पति ने पुलिस की मदद लेनी चाही। उसने हेल्पलाइन नंबर 112 पर कॉल किया, लेकिन लगभग दो घंटे बीत जाने के बाद भी कोई मदद को नहीं पहुंची। इसपर पति अपनी बाइक से गर्भवती पत्नी को लेकर जिला अस्पताल के लिए चल पड़ा। लगभग दो किलोमीटर दूर रायबरेली-सेमरी उन्नाव राजमार्ग पर पहुंचते ही पत्नी के असहनीय प्रसव पीड़ा होने लगी। इसपर पति ने बाइक रोककर ग्रामीण महिलाओं से मदद मांगी। इनकी मदद से गर्भवती ने सड़क के किनारे लालपुर गांव के पास पेट्रोल पंप के पास बेटे को जन्म दिया। इसके बाद पति ऑटो रिक्शा की मदद से अपने नवजात शिशु व पत्नी को लेकर घर चला गया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ बताए गए हैं।

=>
LIVE TV