Thursday , October 18 2018

ग्रेटर नोएडा में गिरी दो इमारतें, मलबे में फंसी है कई जिंदगियां, रेस्क्यू जारी

रिपोर्ट- अकरम खान

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा के बिसरख थाना इलाके के शाहबेरी गांव में एक दर्दनाक हादसा हो गया है जहां दो बिल्डिंग गिरने से 18 परिवार मलबे के नीचे दब गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। लोगों के फंसे होने की वजह से एनडीआरएफ की टीम को भी मौके पर बुलाकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया है। हादसे में 3 लोगों की मौत हुई है। केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है।

नोएडा में बिल्डिंग गिरी

ग्रेटर नोएडा के बिसरख थाना इलाके के शाहबेरी में यह मंजर लोगों का दिल दहला देने वाला है दरअसल यहां पर एक कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग अचानक गिर पड़ी जो कि पास में बनी दूसरे बिल्डिंग पर जा गिरी। दोनों बिल्डिंग मलबे में तब्दील हो गई बताया जा रहा है कि एक बिल्डिंग 6 मंजिल थी जबकि दूसरी भी 7 मंजिल की बिल्डिंग थी। पुरानी इमारत में कुछ परिवार रह रहे थे। नई इमारत में मजदूर सो रहे थे। इस दुर्घटना से दोनों इमारतों में सो रहे लोग फंसे हुए हैं।

जैसे ही हादसा हुआ तो चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई लोग कुछ समझ पाते इतने में ही बिल्डिंग मलबे में तब्दील हो गई जिसके बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी और मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स पहुंच गई। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी करने के लिए पुलिस प्रशासन के पास व्यवस्था नहीं थी इसलिए एनडीआरएफ की टीम को भी मौके पर बुला लिया गया जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन काफी देर से शुरू हुआ लोगों की मानें तो मलबे में 2 दर्जन से ज्यादा लोग फंसे हो सकते हैं।

यह भी पढ़े: सर्वोच्च न्यायालय ने धारा 377 पर अपना फैसला किया सुरक्षित

ग्रेटर नोएडा में बिल्डिंग गिरने की सूचना के बाद जिला प्रशासन और अथॉरिटी के अधिकारियों में हड़कंप मच गया क्योंकि इस बिल्डिंग के कमजोर मलवे पर बुनियाद रखने वाले बिल्डरों को सरपरस्ती बिसरख थाना पुलिस और ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के अधिकारी ही दे रहे हैं यही वजह कि हादसा हुआ और दो दर्जन से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ गए।

लोगों का कहना है कि अक्सर यहां पर छोटे-छोटे बिल्डर बिना नक्शा पास कराए हुए बड़ी-बड़ी इमारतें बना देते हैं इसके अलावा इलाके में कोई भी समुचित व्यवस्था नहीं है जिससे कि घटनास्थल पर आसानी से पहुंचा जा सके। अतिक्रमण की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन करने में भी दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों की माने तो ग्रेटर नोएडा के थाना बिसरख में बिल्डर पुलिस से सांठगांठ का ऐसी बिल्डिंगों का निर्माण बिना किसी रोक-टोक के करा रहे हैं। बिल्डर, बिल्डिंग बनाने के बाद लोगों को बेचकर गायब हो जाते हैं जिसके बाद इस तरह की घटना होती है हालांकि पुलिस को मौके पर पहुंचने के बाद लोगों के आक्रोश का भी सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़े: ‘पीएम मोदी बताएं, केंद्र दिल्ली सरकार को काम क्यों नहीं करने देती’

मामले की गंभीरता को देखते हुए यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने एनडीआरएफ की टीम से बात की और तत्काल मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करने के आदेश दिए। फिलहाल अभी तक किसी भी घायल को बाहर नहीं निकाला जा सका है लेकिन जैसे जैसे रेस्क्यू ऑपरेशन धीरे-धीरे आगे बढ़ेगा वैसे ही घायलों को मलबे से निकाला जाएगा।

=>
LIVE TV