किसी भी कीमत पर घर में करने होंगे ये 5 बदलाव, तभी रुकेगी तबाही

रोटी, कपड़ा और मकान हर किसी की मूलभूत जरूरत होती है। पहली दो जरूरतें तो इंसान पूरी करता रहता है लेकिन मकान की चाहत थोड़ा इंतजार कराती है क्योंकि सभी को अपने सपनों जैसा मकान चाहिए होता है। आखिरकार उसे घर जो बनाना होता है। जहां एक छत के नीचे पूरे परिवार के साथ आराम से जिंदगी जिएं।

कीमत

लेकिन लंबी जिंदगी में कई सारे बदलाव आते हैं। वो बदलाव जो हम चाहते नहीं। अनचाहे बदलाव ही तो उठापटक कहलाते हैं। जो खुशहाल जिंदगी में बैरियर काम करते हैं। बैरियर कभी हम बनाते हैं तो कभी हमें अनजाने में मिल जाते हैं। घर के मायने में ये रुकावटें कहलाती हैं वास्तु दोष। अगर वास्तु दोष हमारे घर में है तो पनपने नहीं देता। धन जितना धीरे आता है उससे कहीं तेजी से निकल जाता है।

कहते हैं पैसा जिंदगी का सार होता है। एकदम सही बात है। अगर जरूरत भर का पैसा नहीं तो मानसिक शांति भी चली जाती है। सबसे ज्यादा असर होता है घर के मुखिया पर। फिर वहीं से शुरु होती है अशांति की शुरुआत।

ऐसे में इन परेशानियों का कारण घर मे मौजूद कुछ दोष को दूर करना अनिवार्य हो जाता है। अगर आपके भी घर में यह वास्तु दोष हैं तो आपको भी पैसों की कमी और दरिद्रता का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: 90 के दशक के गाने का रीमेक यू ट्यूब के टॉप चार्ट में पहले नंबर पर

कारण और निवारण

हर कोई अपने घर में मां अन्नपूर्णा का वास चाहता है। वो स्थान होता है रसोई घर, जहां मां अन्नपूर्णा वास करती हैं। इसलिए कभी भी घर के उत्तर पूर्व दिशा में रसोई घर न बनवाएं। अगर ऐसा है तो घर में धन हानि होती रहेगी। रसोई घर दक्षिण या पश्चिम पूर्व में हो तो धन धान्य की वृद्धि होती है।

अपने घर

जिस तरह हमारे शरीर के हर अंग का अलग-अलग काम के लिए है उसी तरह हर दिशा का अलग ही महत्व होता है। उत्तर-पूर्व की तरह उत्तर-पश्चिक दिशा भी धन आगमन के लिए महत्वपूर्ण मानी जाती है। अगर इस दिशा में हर समय अंधेरा रहता है, तो परिवार में आपसी मतभेद बढ़ता है और धन की हानि होती है।

यह भी पढ़ें: भोजपुरी सिनेमा का स्तर बढ़ा लंदन में ठुमका लगाती दिखी यूट्यूब क्वीन आम्रपाली दुबे

जैसा कि पहले बताया गया कि पैसा जिंदगी का सार होता है। इस पैसे को रोकने या घर की किसी एक जगह पर रखने के लिए हम तिजारी बनवाते या रखते हैं। इस के लिए भी दिशा का ध्यान रखाना आवश्यक है। दक्षिण दिशा की तरफ दरवाजा या तिजोरी नहीं होना चाहिए।क्योंकि दक्षिण दिशा के देवता यम हैं। इस दिशा में दरवाजा या तिजोरी होने पर धन और आयु की हानि होती है। अगर ऐसा हो तो दोष से बचने के लिए उस पर लाल रिबन में बंधे तीन सिक्के टांग दें।

घर के जिस कमरे में परिवार का मुखिया सोता हो, अगर वह कमरा दक्षिण-पूर्व दिशा में है तो अनावश्यक परेशानी आती रहती है। साथ ही घर में आर्थिक परेशानियां बढ़ती हैं और पारिवारिक सुख में कमी आती है।

वास्तु के मुताबिक, उत्तर-पूर्व दिशा धन आगमन की दिशा मानी जाती है। जिन घरों में इस दिशा में भारी सामान या गंदगी होती है, वहां हमेशा आर्थिक परेशानी बनी रहती है साथ ही धन का आगमन भी कभी-कभी होता है।

=>
LIVE TV