Friday , September 21 2018

लक्ष्मी शिशु गिरी में 7 बच्चों के गायब होने की खबर से प्रशासन में आफरा-तफरी

रिपोर्ट- काशी नाथ शुक्ला

वाराणसी। हाल ही में देवरिया के नारी संरक्षण गृह में बच्चियों के गायब होने के मामले के सामने आने के बाद वाराणसी स्थित लक्ष्मी शिशु गिरी में रह रहे 15 में से 7 बच्चों के गायब होने की बात सामने आई है जिसके बाद प्रशासन इस पूरे मसले पर सफाई देने में जुड़ गया है। इस बारे में वाराणसी के जिला अधिकारी सुरेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि कोई बच्चा गायब नहीं हैं बल्कि मार्च में ही बंद हो चुके इस शिशु गृह ने अपनी लिस्ट को वेबसाइट पर अपडेट नहीं किया है जिसकी वजह से कंफ्यूजन पैदा हुआ है।

कर्मचारी

दरअसल बताया जा रहा है कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव ने डीएम को एक पत्र भेजा है पत्र के मुताबिक कबीरचौरा स्थित लक्ष्मी शिशु गिरी की ओर से यह जानकारी दी गई है कि उनके यहां 15 बच्चे रह रहे हैं बीते दिनों जब केंद्र सरकार की टीम ने यहां निरीक्षण किया था तो मौके पर केवल 8 बच्चे ही मिले थे जबकि 7 बच्चों से संबंधित कोई भी जानकारी नहीं हासिल हो पाई थी गायब सभी 7 बच्चों के बारे में लक्ष्मी शिशु गृह प्रबंधन की ओर से भी कोई पुख्ता जानकारी मुहैया नहीं कराई जा सकी है।

मामले को गंभीरता से लेते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने डीएम को जांच कराकर गायब बच्चों से संबंधित जानकारी देने के आदेश दिए हैं इस बारे में जिलाधिकारी ने एक टीम गठित कर मौके पर जांच के लिए भेज भी दी है इस संदर्भ में जिलाधिकारी ने कैमरे पर तो बोलने से मना कर दिया लेकिन उन्होंने बताया कि फिलहाल बच्चों के गायब होने की बात गलत है क्योंकि जिस शिशु गृह से बच्चों के गायब होने की बात कही जा रही है वह शिशु ग्रह तमाम अनियमितताओं की वजह से मार्च में ही बंद कर दिया गया था और यहां मौजूद बच्चों को प्रशासन ने अपने संरक्षण में ले लिया था।

यह भी पढ़े: बदमाशों ने की फायरिंग, बदले में पुलिस ने चक्रव्यूह रच सिखाया सबक

इसके बाद उनके द्वारा कारा की वेबसाइट पर बच्चों के लिस्ट अपडेट नहीं की गई है जो मंत्रालय द्वारा भेजी गई लिस्ट और अपडेट लिस्ट उनके मैच ना हो पाने की वजह से कंफ्यूजन पैदा कर गई है फिलहाल बच्चों के गायब होने की बात गलत है मामले की जांच पूरी कर मंत्रालय को रिपोर्ट प्रेषित की जाएगी।

=>
LIVE TV