मोदी से बड़ा रामभक्त कोई नहीं, जल्द हो मंदिर का निर्माण: रामदेव

रिपोर्ट- काशीनाथ

वाराणसी में दो दिवसीय दौरे पर अपने निजी कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव ने आज राम मंदिर निर्माण को लेकर 25 नवंबर को अयोध्या में आयोजित धर्म संसद को लेकर कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर संसद में कानून लाया जाना चाहिए क्योंकि इसके विरोध में कोई भी नहीं आएगा।

बाबा

विरोध राजनैतिक हो सकता है लेकिन राम किसी के लिए विरोध की बात नहीं है वहीं उन्होंने राजनीतिक स्तर पर चल रही बेवजह की बयानबाजी पर कहा कि राजनीति में संस्कृति और और संस्कार हो रहा है जो भी बड़े नेता हैं उनको और उनके नीचे वालों को सोच समझकर बोलना चाहिए।

बाबा रामदेव ने राजनीति में ओछी बयान बाजी पर कहा कि राजनीति में संस्कार और संस्कृति पूरी तरह से क्षीण हो रही है मौलिक अधिकारों की बात हो रही है लेकिन हमारे संवैधानिक और नैतिक कर्तव्य है उनका हर आस हो रहा है इसलिए इसके ऊपर पक्ष और प्रतिपक्ष सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को बहुत गंभीरता से सोचना चाहिए।

जो बड़े लोग हैं राजनीति में उनको सबसे पहले अपनी भाषा में सुधार करना चाहिए यदि राजनीति में शिखर पर जो लोग बैठे हैं वह अपनी भाषा पर नियंत्रण रखें तो यह शालीनता बनी रहेगी वहीं बाबा रामदेव ने धर्म संसद के आयोजन को लेकर कहा कि धर्म संसद मात्र संसद पर दबाव बनाने के लिए नहीं है सुप्रीम कोर्ट से इतना विलंब हुआ है कि लोगों के अब सब्र का बांध टूट गया और संसद संविधान का लोकतंत्र का सबसे बड़ा मंदिर है।

मोदी से बड़ा राम भक्त राष्ट्रभक्त ना जाने कब प्रधानमंत्री बनेगा इसलिए सब देशवासियों की इच्छा है मैं इस में अल्पसंख्यकों बहुसंख्यक दोनों को जोड़ना चाहता हूं क्योंकि हिंदू मुसलमान दोनों के नाम है इसलिए राम के मुद्दे पर यदि मोदी सरकार संसद में कानून जाती है मंदिर बनाने के लिए तो कोई विरोध करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएगा क्योंकि इस देश में राजनीतिक दलों का परस्पर विरोध हो सकता है राम का कोई विरोध इस राष्ट्र में नहीं है।

पुलिस लाइन में योगी का औचक निरीक्षण, सफाई व्यवस्था से नाराज लेकिन ‘चुलबुल पांडे’ से हुए प्रसन्न

काला धन को भारत वापस लाए जाने के मुद्दे पर बाबा रामदेव ने कोई जवाब नहीं दिया और कहा हो गया हो गया बस करिए। वहीं राहुल गांधी की तरफ से लगातार राफेल मुद्दे पर बोले जाने को लेकर बाबा रामदेव ने कहा कि राजनीति में एक दूसरे पर छींटाकशी होती है मैं पक्ष विपक्ष मुद्दों में नहीं पड़ना चाहता मैं सर्वदलीय और निर्दलीय हूं मैं ना किसी के पक्ष में हूं ना विपक्ष में हूं मैं निष्पक्ष हूं वहीं तीनों राज्यों के चुनाव को लेकर कहा कि अच्छा संघर्ष है और कुछ दिन में आपको पता चल जाएगा लोग T20 के नजरिए से चुनाव को देख रहे हैं लोग इसमें इंटरेस्ट ले रहे हैं जो भी होगा जल्दी पता चल जाएगा।

=>
LIVE TV