Saturday , August 18 2018

अली के खिलाफ महिलाओं ने खोला मोर्चा, लगी आरोपों की झड़ी

लाहौर पाकिस्तान की अभिनेत्री, मॉडल व गायिका मीशा शफी द्वारा अभिनेता व गायक अली जाफर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने के बाद अन्य महिलाएं भी जफर के खिलाफ इसी तरह के आरोपों के साथ सामने आई हैं। मीशा शफी को समर्थन देते हुए महिलाओं ने लिखा कि वह अकेली नहीं हैं और उन्होंने भी ऐसे अनुभवों का सामना किया है।

पाकिस्तान की अभिनेत्री

मेक-अप आर्टिस्ट लीना गनी ने मीशा को इस घटना के खिलाफ आवाज उठाने के लिए धन्यवाद दिया है।

लीना ने लिखा, “मीशा की हिम्मत देखने के बाद मेरे लिए अब चुप रहना मुश्किल है। यह न केवल उनके समर्थन के लिए है, बल्कि उन्हें यह बताने के लिए है कि वह अकेली नहीं है। मैं कई वर्षो से अली जफर को जानती हूं। दोस्तों के बीच जो सही व्यवहार होना चाहिए, उसकी सीमा को अली ने कई बार लांघा है।”

उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि कैसे अली का व्यवहार ‘महिलाओं के प्रति उनके असम्मान के आभाव को दिखाता है।’

लीना गनी ने लिखा, “गलत तरीके से छूने, दबोचने और यौन टिप्पणी करने को हास्य और अभद्रता के बीच के अस्पष्ट क्षेत्र में नहीं डालना चाहिए। आपको वस्तु की तरह पेश करने वाले टिप्पणी, आपकी चमड़ी में सिहरन पैदा करने वाली टिप्पणी को ‘एक मजाक’ नहीं माना जा सकता है। इस तरह के व्यवहार से महिलाओं को ठेस पहुंचती है।”

उन्होंने कहा, “शफी अकेली नहीं है।”

लीना ने कहा, “उस समय की वे यादें, जिसमें अली को लगता था कि वह अभद्र चीजें कहकर चला जाएगा, मुझे आज भी उन्हें सोचकर बुरा लगता है।”

एक पत्रकार माहम जावेद ने भी ‘वर्षो पहले’ की एक घटना के बारे में बताया, जब ‘अली ने उनकी एक रिश्तेदार का चुंबन लेने की कोशिश की थी और उसे एक रेस्टरूम में खींच लिया था।’

ब्लॉगर हुमना रजा ने भी अली पर एक सार्वजनिक समारोह में उन्हें गलत तरीके से छूने का आरोप लगाया।

मीशा शफी ने गुरुवार शाम को ट्वीट कर कहा था कि अली जफर ने एक से अधिक बार उनका यौन उत्पीड़न किया था। यह पहली ऐसी घटना है जिसमें पाकिस्तान की एक सेलेब्रिटी ने अपने सहकर्मी के बारे में खुलकर ऐसा आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें:  किम कर्दाशियां को नहीं थी ‘फैमिली फ्यूड’ के बारे में कुछ खबर

अली ने गुरुवार को ही शफी की बात खंडन किया था और कहा था कि वह कानून के जरिए इसका जवाब देंगे।

उन्होंने ट्वीट कर कहा था, “मैं यह काफी विश्वास करता हूं कि सच की हमेशा जीत होती है।”

हालांकि, पाकिस्तान का मनोरंजन जगत इस मुद्दे पर अधिक बोल नहीं रहा है लेकिन कुछ आवाजें अली जफर के पक्ष में भी सामने आई हैं। अभिनेत्री माया अली ने इंस्टाग्राम पर लिखा कि वह अली का सम्मान करती हैं और हमें किसी के चरित्र पर तब तक कोई फैसला नहीं करना चाहिए जब तक सच सामने न आ जाए।

 

 

=>
LIVE TV