कभी नहीं सुना होगा मटर का भी दूध, प्रोटीन की कमी को पलभर में करता है दूर

नॉन वेज खाने वाले तो अपनी डाइट में भरपूर प्रोटीन ले लेते हैं। लेकिन जिन लोगों की डाइट केवल शाकाहारी है। इन लोगों के शरीर में प्रोटीन की मात्रा थोड़ी कम हो सकती है। उनके शरीर में प्रोटीन की सीमित मात्रा ही पाई जाती है। जिन लोगों को दूध या फिर दूध से बनी चीजों से नफरत है तो उसके लिए प्रोटीन की कमी को पूरा करने वाली समस्या और भी बढ़ जाती है।  लेकिन आज हम आपको आपके शरीर में प्रोटीन की मात्रा को कैसे पूरा किया जाएं इस बारे में कुछ बताने जा रहे हैं।

मटर का भी दूध

पी प्रोटीन

मटर का दूध बनाने के लिए मटर के दानों को सबसे पहले सुखाया जाता है। फिर उसे पीसकर बारीक पाउडर तैयार कर लिया जाता है। इसके बाद इसमें पानी मिलाकर पानी की मदद से फाइबर और स्टार्च निकाल लिया जाता है बाद में प्रोटीन और विटामिन ही रह जाते हैं। बाद में क बार फिर इस पाउडर को पीसकर बारीक कर लिया जाता है। इस पाउडर का सेवन दूध में मिलाकर किया जाता है।

फायदे

प्रोटीन की कमी

मैक्स हेल्थकेयर की चीफ डायटीशियन रितिका समादार कहती हैं कि पी प्रोटीन मिल्क को प्रोटीन के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह ग्लूटन फ्री होने के साथ-साथ प्रोटीन का एक गुड सोर्स है। अगर एक शाकाहारी व्यक्ति लैक्टोज इनटॉलरेंट है और उसकी प्रोटीन की दैनिक आवश्यकताएं पूरी नहीं हो रही हैं तो वह पी प्रोटीन मिल्क का संवन कर सकता है। इसके सेवन के लिए एक गिलास दूध में दो चम्मच पी प्रोटीन पाउडर डालकर मिक्स करके सेवन करें।

पोषक तत्व

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि पी प्रोटीन में सभी तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। एक बार में हर व्यक्ति को 16 से 20 ग्राम प्रोटीन मिलता है। इसके एक कप में कई तरह को पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह शाकाहारियों के लिए भी आयरन और मिनरल का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन जैसे कि ए,ई,डी,के और मिनरल्स भी पाए जाते हैं।

नोटबंदी की दूसरी वर्षगांठ पर ममता ने कहा कुछ ऐसा, जो सबको जानना चाहिए

घटाएं वजन

जो लोग अपने बढ़े हुए वजन के कारण हमेशा परेशान रहते हैं उनके लिए इस तरह का प्रोटीन काफी फायदेमंद होता है। आप इस तरह के पोषक से प्रोटीन की कमी तो पूरी करते ही हैं साथ में आपका वजन भी आपके नियत्रण में रहता है। इस तरह के प्रोटीन में कुछ इस तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे आपको बार-बार भूख की समस्या ही नहीं होती है। जब आपको बार-बार भूख नहीं लगेगी तो आपका वजन खुद ही नियंत्रण में रहेगा।

भर जाता है पेट

पी प्रोटीन पाउडर में अमीनो एसिड का एक सतुंलित अनुपात पाया जाता है। जिसके कारण जब व्यक्ति इसका सेवन करता है तो उसे लम्बे समय तक पेट भरे होने का अहसास होता है। साथ ही यह कई तरह के फलेवर में मार्केट में अवेलेबल है। इसका स्वाद इतना माइल्ड होता है कि व्यक्ति को इसका सेवन करते हुए किसी भी तरह की परेशानी का आभास नहीं होता।

भारत में Amazon की ऑडीबुक्स सदस्यता सेवा ऑडिबल लॉन्च की गई, कीमत रु। 199 प्रति माह

नहीं होती समस्याएं

मटर के दूध में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। जिसका बड़ा लाभ मिलता है। व्यक्ति कई तरह की समस्याओं से बचा रह सकता है। क्योंकि इस तरह का प्रोटीन जल्दी शरीर में डाइजेस्ट होता है। जहां सोया मिल्क या अन्य डेयरी प्रॉडक्ट्स से लोगों को पेट में गैस व ब्लोटिंग की परेशानी होती है। इस तरह के प्रोटीन से व्यक्ति के शरीर में गैस बनने की समस्या भी नहीं होती साथ ही किसी भी तरह की एलर्जी होने का भी खतरा नहीं होता है। आप बिना किसी चिंता के मजे से इसका सेवन कर सकते हैं।

 

 

 

 

=>
LIVE TV