Wednesday , September 20 2017

आज ही के दिन भारतीय सेना ने निजामों को चटाई थी धूल और हैदराबाद को…

हैदराबाद के भारतीय संघ में विलयहैदराबाद। तेलंगाना में रविवार को 1948 में हैदराबाद के भारतीय संघ में विलय की वर्षगांठ मनाई गई। इस अवसर पर राजनीतिक पार्टियों के कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस व अन्य ने इसे विलय दिवस के रूप में मनाया, जबकि भारतीय जनता पार्टी ने इसे ‘मुक्ति दिवस’ के तौर पर मनाया।

निजाम की सेना के खिलाफ भारतीय सैन्य अभियान के बाद 1948 में इसी दिन पूर्ववर्ती हैदराबाद राज्य का भारत में विलय किया गया था।
गृहमंत्री एन. नरसिम्हा रेड्डी ने उपमुख्यमंत्री मोहम्मद अली व दूसरे नेताओं की मौजूदगी में टीआरएस के मुख्यालय में तिरंगा फहराया।

इस मुद्दे पर भाजपा पर लोगों को बांटने का आरोप लगाते हुए नरसिम्हा रेड्डी ने पार्टी को सांप्रदायिक राजनीति से दूर रहने की सलाह दी।

भाजपा ने कई जगहों पर बड़े पैमाने पर राष्ट्रीय ध्वज फहराकर यह दिन मनाया।

शिवसेना का भाजपा को बड़ा झटका, नहीं मनाने देगी PM का जन्मदिन

राज्य के भाजपा कार्यालय में राज्य ईकाई के अध्यक्ष के.लक्ष्मण ने तिरंगा फहराया। उन्होंने टीआरएस सरकार पर इस दिवस को आधिकारिक रूप से मनाए जाने के वादे से पीछे हटने को लेकर निशाना भी साधा।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह निजामाबाद में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करेंगे।

कांग्रेस के राज्य इकाई के अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने पार्टी कार्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। उन्होंने यह आरोप लगाते हुए कि टीआरएस के शासन में तेलंगाना में हैदराबाद राज्य की तरह ही दमन हो रहा है, लोगों से एक और आंदोलन शुरू करने को कहा।

अमर सिंह ने कहा- बीजेपी में शामिल होने का न्योता मिलेगा तो इनकार नहीं करुंगा

भाजपा व दूसरे दक्षिणपंथी संगठनों ने इस दिवस को आधिकारिक तौर पर मुक्ति दिवस के तौर पर मनाने की मांग की थी।

मुस्लिम समूहों ने इस अवसर पर किसी भी तरह के समारोह का विरोध किया था। उनका दावा है कि ‘पुलिस की कार्रवाई’ में मुस्लिमों का बड़ी संख्या में नरसंहार हुआ था।

=>
LIVE TV