14 अप्रैल को होगी वीएचपी के कार्यकारी बोर्ड की बैठक, तोगड़िया की छुट्टी लगभग तय

इलाहाबाद। विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया की पद से छुट्टी होने वाली हैं इसका कारण उनका केंद्र सरकार के प्रति बागी होना माना जा रहा हैं। वीएचपी के 52 साल के इतिहास में कार्यकारी अध्यक्ष का चुनाव पहली बार 14 अप्रैल को होगा। अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि इस बार की बैठक में प्रवीण तोगड़िया और अध्यक्ष राघव रेड्डी को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता हैं। इस पूरी प्रक्रिया में संघ महत्वपूर्ण  रोल अदा करने वाला हैं।

प्रवीण तोगड़िया

वीएचपी के कार्यकारी बोर्ड की बैठक 14 अप्रैल को गुरुग्राम में होगी जिसमें संघ के बड़े अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।इससे पहले अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए पिछले साल 29 दिसंबर को भुबनेश्वर में पार्टी के सदस्यों की बैठक हुई थी लेकिन किसी एक नाम पर सहमति न बनने को लेकर चुनाव नहीं हो सका।

यह भी पढ़े।“मास्टर ऑफ रोस्टर थ्योरी” को लेकर SC के जजों में मतभेद, चेलमेश्वर ने सुनवाई से किया इनकार

पिछली बैठक में हैदराबाद के राधव रेड्डी और दूसरे हिमाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल और मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के जज विष्णु सदाशिव कोकजे की उम्मीदवारी तय नहीं हो पाई थी। इन दोनों में से जो भी चुनाव जीतेगा वह तोगड़िया की जगह लेगा।
यह भी पढ़े।साथी विधायक ने योगी को बताया ‘बच्चा’, पूछा- पांच साल सीखने में ही बीतेंगे या…

बता दें कि तोगड़िया के एक दिन लापता होने पर उन्होंने गुजरात सरकार और पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाया था। इस मामले के बाद से तोगड़िया ने भाजपा के विपक्ष में कई बयान दिये। इन बयानो से मोदी सरकार पर सवाल खड़े होते हैं और विपक्ष को मुद्दा मिल जाता हैं।  इससे परेशान आरएसएस ने तोगड़िया को रास्ते से हटाने की ठान ली हैं। वीएचपी के जनरल सेक्रेटरी सुरेंद्र जैन ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए 14 अप्रैल को गुरुग्राम में चुनाव होंगे।

=>
LIVE TV