Thursday , November 15 2018

कर्नाटक : शक्ति परिक्षण में पास हुए ‘स्वामी’, रमेश कुमार बने विधानसभा अध्यक्ष

बेंगलुरू। कर्नाटक एचडी कुमारस्वामी ने शक्ति परिक्षण पास कर लिया है। उन्हें 117 विधायकों ने वोट दिए हैं। जबकि भारतीय जनता पार्टी इस दौरान वाक आउट कर गई। विधानसभा में विश्वास मत पेश किए जाने पर भाजपा ने इसका ज़ोरदार बहिष्कार किया था। बीजेपी ने इसी के साथ सीएम को चेतावनी भी जारी करी।

विपक्ष के नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि 24 घंटे में सीएम किसानों का कर्ज माफ़ कर दें वरना वह सोमवार को (28 मई) को विरोध झेलने के लिए तैयार रहें। भाजपा राज्य स्तर पर बंद बुलाएगी।

कर्नाटक

58 वर्षीय कुमारस्वामी ने बुधवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उन्हें कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन के 118 विधायकों का समर्थन हासिल है।

यह भी पढ़ें : कानपुर, मेरठ और आगरा के मेट्रो डीपीआर को योगी सरकार की मंजूरी

वहीँ इससे पहले कांग्रेस विधायक के.आर. रमेश कुमार को शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा का निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित किया गया। प्रोटेम अध्यक्ष के.जी बोपैया ने इसकी घोषणा की।

कांग्रेस विधायी दल के नेता सिद्धारमैया ने अध्यक्ष पद के लिए रमेश कुमार का नाम प्रस्तावित किया, जिसे उपमुख्यमंत्री जी.परमेश्वर ने समर्थन दिया।

बोपैया ने कहा, “कांग्रेस विधायक को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुना गया है।”

भारतीय जनता पार्टी के (भाजपा) के वरिष्ठ विधायक एस. सुरेश कुमार ने विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन वापस ले लिया, जिसके बाद रमेश कुमार को निर्विरोध चुन लिया गया।

यह भी पढ़ें : कर्नाटक के बाद MP में कांग्रेस का ‘धावा’, BJP को हारने के लिए सिंधिया ने कसी कमर

रमेश कुमार (68) छह बार विधायक रह चुके हैं। उन्होंने हाल ही में कोलार जिले के श्रीनिवासपुर से चुनाव जीता था।

रमेस कुमार दूसरी बार विधानसभा अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। वह इससे पहले जनता दल-सेक्युलर (जेडीएस) नेता एच.डी देवेगौड़ा के मुख्यमंत्री काल (1994-96) में भी इस पद पर रह चुके हैं।

=>
LIVE TV