Jammu Kashmir में एनकाउंटर, बुरहान वानी का गैंग साफ

शनिवार को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में सेना, पुलिस और सीआरपीएम के ज्वाइंट ऑपरेशन में दो आतंकी मारे गए. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षा बलों को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के काटपुरा इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी. सूचना के आधार पर शाम को सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी की और सर्च ऑपरेशन चलाया.

बताया जाता है कि सुरक्षा बल जब इलाके की तलाशी ले रहे थे तभी आतंकियों की तरफ से उनपर फायरिंग शुरू कर दी गई. नियम के मुताबिक आतंकियों को सरेंडर करने का मौका भी दिया गया था, लेकिन आतंकियों ने फायरिंग जारी रखी.

आखिरकार सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में दो आतंकियों मारे गए. साथ ही मौके से हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया गया है.

सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों की पहचान जीनत-उल-इस्लाम और शकील अहमद डार के तौर पर की गई है. जीनत-उल- इस्लाम को 2016 में मारे गए हिजबुल कमांडर बुरहान वानी का साथी बताया जा रहा है.

गौरतलब है कि घाटी में भारतीय सुरक्षा एजेंसियां के चलाए गए ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के तहत साल 2018 में सुरक्षाबलों द्वारा 262 आतंकियों को को ढेर किया जा चुका है. ये आंकड़े 31 दिसंबर 2018 तक के हैं.

सूत्रों के मुताबिक, आज भी 300 से ज्यादा आतंकी घाटी में सक्रिय है. जिनके खिलाफ सुरक्षा एजेंसियां लगातार ‘ऑपरेशन ऑल आउट ‘ चला रही हैं. साथ ही सुरक्षा एजेंसियों अब भी घाटी में पाक समर्थित आतंकियों को पनाह दिए जाने की तस्दीक कर चुकी हैं.

आज तक को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका घाटी के युवाओं को ब्रेनवाश कर आतंक की राह पर चलाने की नापाक कोशिश में लगे हुए हैं. इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा भी लिया जा रहा है.

अंतरिम बजट में छूट की सीमा बढ़ने के आसार, सरकार बदली तो भी पड़ेगा असर

सूत्रों के मुताबिक, आज भी 300 से ज्यादा आतंकी घाटी में सक्रिय है. जिनके खिलाफ सुरक्षा एजेंसियां लगातार ‘ऑपरेशन ऑल आउट ‘ चला रही हैं. साथ ही सुरक्षा एजेंसियों अब भी घाटी में पाक समर्थित आतंकियों को पनाह दिए जाने की तस्दीक कर चुकी हैं.

आज तक को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका घाटी के युवाओं को ब्रेनवाश कर आतंक की राह पर चलाने की नापाक कोशिश में लगे हुए हैं. इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा भी लिया जा रहा है.

=>
LIVE TV