Sunday , September 24 2017

नकल कराने वाले प्रिंसिपल पर गाज गिरना तय

हरिद्वार में नकलदेहरादून। समाज में छात्र की कामयाबी के पीछे उनके टीचर और प्रिंसिपल का बहुत बड़ा योगदान होता है। मगर वहीं, टीचर और प्रिंसिपल परिक्षा के दौरान अपने छात्रों को नकल कराए तो फिर क्या बात हो। ऐसा ही नकल कराने का मामला मामला हरिद्वार से सामने आया है। यहां की जगजीतपुर आईटीआई में प्रधानाचार्य पर नकल कराने का आरोप है। प्रिंसिपल पर शासन स्तर पर कार्रवाई जारी है।

सत्रंत परीक्षाओं में नकल कराने के आरेापी हरिद्वार की जगजीतपुर आईटीआई के प्रधानाचार्य एमएम कुडियाल पर गाज गिरना तय मा

ना जा रहा है। शासन स्तर पर की गई जांच में उन्हें दोषी पाया गया है। इससे पहले भी कुछ ऐसे मामले हुए हैं जिसमें आईटीआई के तीन कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया था।

सचिव तकनीकी शिक्षा डॉ. पंकज कुमार पांडे ने बताया कि प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्यवाई शासन स्तर पर की जाती है और बताया कि इस मामले की रिपोर्ट उच्चधिकारियों के हाथ सौंप दी गई है। जिस पर जांच कर रहै हैं। सूत्रों केमुताबिक पता चला कि अपर मुख्य सचिव तकनीकी शिक्षा ओमप्रकाश के विदेश यात्रा पर होने से कार्रवाई में सुस्ती आ गयी है। लेकिन उनके लौटने पर कार्रवाई में तेजी आ जाएगी।

नकल कराने का यह बेहद चर्चित मामला है। बीती आठ अगस्त को रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय, दिल्ली से आई टीम को आईटीआई में छापे के दौरान काफी अनियमित बातें मिली। जानकारी में आते ही शासन ने एक कर्मचारी को सस्पेंड कर वहां से निकाल दिया और दो की महानिदेशालय रिपोर्ट आने का इंतेजार किया, बाद में उनकी भी रिपोर्ट आने के बाद उन्हें भी सस्पेंड कर दिया गया। प्रिंसिपल पर शासन स्तर पर कार्रवाई जारी है।

 

=>
LIVE TV