मंगलवार , जून 19 2018

‘टीपू’ की ‘टोंटी’ और सियासी सवालों पर केन्द्रीय मंत्री का प्रहार, अखिलेश को बताया सही तरीका

रामचंद्र सैनी

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में एक दिवसीय दौरे में आई केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने अखिलेश यादव पर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि जब सरकारी सम्पति का नुकसान करने वाले जनता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा सकता, तो अखिलेश यादव के खिलाफ भी दर्ज होना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति

उन्होंने अखिलेश यादव के चिल्लम ढूंढने वाले बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अखिलेश जी जिम्मेदार व्यक्ति हैं। जिम्मेदार लोगों को इस तरह का बयान देना शोभा नहीं देता। इतिहास में मुख्यमंत्री रहते हुए बंगला तैयार कराना अखिलेश ने पहली बार किया।

उन्होंने कहा कि किसी भी मुख्यमंत्री ने सत्ता में रहते हुए बंगला नहीं तैयार करवाया। वह कह रहे हैं कि यह मेरा सामान है, तुम मुख्यमंत्री रहते हुए समान लगवा रहे हो। वह सामान तुम्हारा कैसे हो गया।

यह भी पढ़ें:- इटावा पुलिस के हत्थे चढ़े दो शातिर बदमाश, फर्जी लाइसेंस समेत आलाधिकारियों की मुहर बरामद

मंत्री ने कहा कि अखिलेश के अंदर कुछ खोट नहीं तो जांच से क्यों डर रहे हैं, सरकारी आवास में इतना महंगा टाइल्स नहीं लगवाना चाहिए, सरकारी संपत्ति का नुकसान करना किसी का अधिकार नहीं है। चाहे वह किसी पद में हो, जब हम जनता के ऊपर एफआईआर कर देते हैं, तो इसमे भी किसी का अधिकार नहीं सरकारी संपत्ति नष्ट करने की।

उन्होंने इशारे-इशारे में में कार्यवाही करने की बात कही। अखिलेश द्वारा जान के खतरे वाले बयान पर कहा कि राजनैतिक क्षेत्र में राजनैतिक प्रतिद्वंदिता होती है। लेकिन इस तरह से बयान देना अच्छा नहीं है।

यह भी पढ़ें:- हमले के बाद कार्रवाई न होने से नाराज डॉक्टर कफील के परिजन, आईजी क्राइम को सौंपा प्रार्थना पत्र

संघ परिवार में होना और राज्यपाल बनना मुझे लग रहस है कि वह सत्ता में थे तब भी यह बात कहते थे। संघ एक विचार धारा है, संघ का होना कोई गुनाह है क्या, आप कहते हो कि आप लोहियावादी हो आप अपने गिरेबान में झांककर देखिये की आप लोहिया के विचार धारा का कितना पालन करते हैं। अखिलेश द्वारा सरकारी आवास में बनवाये गए मंदिर को वापस करने के बयान पर कहा कि अगर बस चलता तो उसे भी उठाकर ले जाते। लेकिन उसे उठा नहीं सकते थे।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV