Tuesday , September 25 2018

प्रतियोगी परीक्षा में इलेक्ट्रानिक तरीके से नकल कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश

रिपोर्ट- सईद राजा

इलाहाबाद। पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के माध्यम से भर्ती परीक्षाओं में बड़े पैमाने पर धांधली कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ़्तार किया है। गिरफ़्तार तीनो युवक 18 व 19 जून को होने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस-पीएससी आरक्षी भर्ती परीक्षा में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणो के ज़रिए बड़े पैमाने पर धाँधली करने वाले थे।

नकल कराने वाला गिरोह

जिन्हे पुलिस ने परीक्षा से ऐन वक़्त पर गिरफ़्तार करके उनके मंसूबों पर पानी फेरते हुए इस रैकेट का भंडाफोड़ किया है। जानकारी के लिए बता दें की आज़ इलाहाबाद के शिवकुटी इलाके से गिरोह के 3 सदस्यों को पुलिस गिरफ़्तार करने में कामयाब रही। वहीं गिरोह के तीन अन्य सदस्यों की पुलिस को अभी भी तलाश है। प्रतियोगी परीक्षाओं समेत कई परीक्षाओं में इस गिरोह के सदस्य एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कान में लगाकर और एक शरीर में रखकर परीक्षा में धांधली करवाते थे। जिसके एवज में इन्हे मोटी रकम मिलती थी पूछतांछ में पता चला है की गिरोह के सदस्य प्रति कैंडिडेट 5 लाख रुपये में परीक्षाओं में युवकों को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के माध्यम से धांधली करवाने के लिए लिया करते थे।

यह भी पढ़े: भाजपा विधायक पर जानलेवा हमला, ड्राइवर के साहस से बची जान

वहीं इस बड़े रैकेट के भंडाफोड़ होने के बाद 18 और 19 जून को इलाहाबाद के 57 केंद्रों पर होने वाली परीक्षा में 1 लाख 51 हज़ार 72 परीक्षार्थीयों को शामिल होना है। प्रदेश भर में इस परीक्षा में कुल 42 हज़ार पदों के लिए 22 लाख़ अभ्यर्थी शामिल होंगे इस लिए प्रशासन के लिए परीक्षा में पारदर्शिता व व्यस्थित ढंग से कराने की बड़ी ज़िम्मेदारी है वहीं परीक्षा को लेकर प्रशासन ने सख़्त इन्तजाम किया हुआ है। प्रशासन परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रहा है एसएसपी का निर्देश है की किसी भी केन्द्र पर परीक्षा में गड़बड़ी पाए जानें पर सम्बंधित केन्द्र व्यवस्थापक समेत सभी जिम्मेदारों पर सख्त कारवाई की जाएगी।

=>
LIVE TV