Tuesday , February 20 2018

सहकारी कर्मचारी संघ ने की ताला बंद हड़ताल पर जाने की घोषणा, 10 से नहीं मिला वेतन

सहकारी कर्मचारी संघलखनऊ। उत्तर प्रदेश सहकारी कर्मचारी संघ की अपील पर सहकारी समितियों में काम करने वाले करीब 25 हजार सचिव, आंकिक विक्रेता और सहयोगी चौकीदारों ने 23 अक्टूबर दिन सोमवार को तालाबंद हड़ताल पर जाने की घोषणा की है।

शिवपाल ने माना अखिलेश को राष्ट्रीय अध्यक्ष, कहा- वे जैसे चाहें चलाएं पार्टी

ख़बरों के मुताबिक़ संघ की वेतन भुगतान, वित्तीय सहायता, बकाया वेतन का भुगतान, उर्वरक पर घटाए गए बिक्री कमीशन को बढ़ाने, धान गेंहूं खरीद कमीशन का भुगतान, समिति कार्यक्षेत्र में अन्य संस्थाओं के बिक्री केंद्र बंद किए जाने और सेवानिवृत्ति आयु सीमा 62 वर्ष किए जाने की मांग है।

संघ के प्रांतीय महामंत्री विशुन जीत पवार ने बताया कि इस संबंध में 16 अक्टूबर को अपर आयुक्त बैंकिंग और संगठन के प्रतिनिधि मंडल के बीच बातचीत हुई। लेकिन मामले के निस्तारण के लिए कोई भी हल नहीं निकल सका।

अयोध्या में योगी सरकार ने तोड़ा बाबा राम रहीम का रिकॉर्ड!

उन्होंने बताया कि कर्मचारियों को बीते 10 सालों से नियमित वेतन नहीं मिल रहा है। इस कारण प्राथमिक रूप से परिवार का पालन पोषण कर पाना भी मुश्किल है।

उनका कहना है कि जब तक उनकी वित्तीय सहायता और मांगों की पूर्ति नहीं होती सभी कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे।

देखें वीडियो :-

=>
LIVE TV