सोमवार , जुलाई 16 2018

मौत के मुहाने पर मासूम बच्चे, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

रिपोर्ट- अशोक कुमार द्विवेदी

लखनऊ। राजधानी के सरोजनी नगर बसंत खेड़ा प्राथमिक विद्यालय की हालत बद से बदतर हो गई है। जर्जर हालत में स्कूल है। और मासूम बच्चों के सर पर मुसीबत की छत कब ढह जाये कोई पता नहीं। बाल अधिकार के तहत सारी सुविधाओं से वंचित मासूम बच्चे मौत के मुहाने पर पढ़ते हैं।

खतरे में बच्चों की जान

मासूम बच्चों के साथ कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। वहीँ स्कूल के अध्यापक ने बताया कई बार इस बिल्डिंग की जर्जर हालत के विषय में अधिकारियों को अवगत कराया गया। लेकिन किसी भी अधिकारी ने संतोषजनक उत्तर नहीं दिया। कोई हादसा होता है, तो जवाबदेही किसकी होगी।

यह भी पढ़ें:- राज्य निर्माण सहकारी संघ के चुनाव नामांकन में जमकर हुआ हंगामा, पूर्व चेयरमैन ने कपड़े फाड़कर किया विरोध

वहीं स्कूल के ऊपर से हाईटेंशन लाइन गुजर रही है। हाईटेंशन लाइन के नीचे पढ़ रहे मासूम बच्चे टूटी बिल्डिंग, चिटकी छत, टूटा शौचालय, हैंडपंप का जहरीला पानी पी रहे मासूम बच्चे के साथ पूर्ण तरीके से उनके अधिकारों का हनन हो रहा है।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV