भाजपा नेता लगा रहे एक-दूसरे पर आरोप, क्या यही बनेगा हार का कारण?

शिवपुरी। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने में भले ही अभी तीन महीने बाकी हैं, मगर सत्ताधारी पार्टी के नेताओं में टकराव का दौर चल पड़ा है। शिवपुरी जिले के भाजपा नेता व पूर्व विधायक के बेटे पर दुष्कर्म का मामला दर्ज होने पर पार्टी के भीतर ही संग्राम छिड़ गया है।

भाजपा

करैरा के पूर्व विधायक रमेश खटीक के बेटे चेतन खटीक के खिलाफ ग्वालियर जिले के सिरोल थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ। पूर्व विधायक रमेश खटीक ने सीधे तौर पर आरोप लगाए हैं कि इस षड्यंत्र के पीछे भाजपा के पूर्व विधायक ओमप्रकाश खटीक और उनके बेटे राजकुमार का हाथ है और यह बात उन्होंने संगठन के वरिष्ठ नेताओं को भी बता दी है।

वहीं दूसरी ओर ओमप्रकाश खटीक का कहना है, “रमेश खटीक जो आरोप लगा रहे हैं, वह पूरी तरह गलत है। रमेश के बेटे के खिलाफ दर्ज दुष्कर्म के मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। वे अपने बच्चे की करतूत छुपाने के लिए इस तरह के झूठे आरोप लगा रहे हैं।”

यह भी पढ़ें:- PM मोदी ने कमांडर टॉमी के साहस की सराहना,कहा- ‘पेश किया हार न मानने का असाधारण उदाहरण’

भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी का कहना है, “रमेश खटीक ने मुझे यह बात बताई है कि उनके खिलाफ कुछ लोगों ने षड्यंत्र रचा है। फिलहाल संगठन भी पूरे मामले पर नजर रखे हुए है।”

यह भी पढ़ें:- केजरीवाल के इस बड़े हमले से कटघरे में सीएम योगी, सच निकली बात, तो गिर जाएगी सरकार!

यहां जानना जरूरी है कि रमेश और ओमप्रकाश खटीक दोनों ही आरक्षित करैरा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। इसी दौरान बेटे पर घिनौना आरोप लगने से रमेश को नुकसान होने का अंदेशा है। लिहाजा, इस मामले ने क्षेत्र की सियासत में आपसी द्वेष का रंग घोल दिया है।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV