कर्नाटक चुनाव परिणाम के बाद अमित शाह की पहली प्रेस कांफ्रेंस, कई मायनों में रही ख़ास

नई दिल्ली। कर्नाटक के सियासी उठापटक के बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के सरकार बनने का रास्ता साफ़ हो गया है। अब बस मंत्रिमंडल का विस्तार होना बाकी है। जोकि एच डी कुमारस्वामी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मुलाकात के बाद ही तय किया जाएगा। वैसे तो चुनाव में ज़ोरदार सियासी घमासान चला है।

अमित शाह

लेकिन आज भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली के भाजपा कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए ज़ोरदार हमला बोला है। उन्होंने राहुल और कुमारस्वामी पर एक के बाद एक तीखे प्रहार किए हैं।

इस दौरान शाह ने कहा कि कर्नाटक में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी। उसका वोट शेयर बढ़ा। उसकी सीटें भी 40 से 104 हुईं। इसके लिए मैं कर्नाटक की जनता का आभार व्यक्त करता हूं।

बता दें बुधवार को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार का शपथ ग्रहण होगा। कुमारस्वामी दूसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगे।

परिणाम बताते हैं जनता ने कांग्रेस को नकारा

अमित शाह ने कहा कि जेडीएस का पूरा प्रचार कांग्रेस की नाकामियों के खिलाफ रहा। परिणाम साफ बताते हैं कि जनता ने कांग्रेस को नकारा है। जो कांग्रेस को हरा सकता था, जनता ने उन्हें स्वीकारा है।

ये कन्फ्यूज मैंडेट नहीं है। मैजिक फिगर से हम केवल 7 सीट दूर रहे हैं। भाजपा करीब 13 सीटें नोटा से भी कम मार्जिन से हारी है। वहीँ बेंगलुरु में हम 6 सीटें नोटा से भी कम मार्जिन से हारे हैं।

आज कांग्रेस और जेडीएस जश्न मना रहे हैं। कांग्रेस किस बात का जश्न मना रही है। कांग्रेस की सीटें 122 थीं, 78 सीटें रह गईं, मिनिस्टर हार गए, मुख्यमंत्री हार गए, इस चीज का जश्न मना रहे हैं कांग्रेसी?”

बता दें कि कर्नाटक के भाजपा को 104, कांग्रेस 78 और जेडीएस को 38 सीट मिली हैं।

जेडीएस की 80 फीसदी सीटों पर जमानत जब्त

पत्रकार वार्ता में अमित शाह ने कहा कि जेडीएस की 80 फीसदी सीटों पर जमानत जब्त हो गई है। और 38 सीटें जीतने का जश्न मना रहे हैं क्या? मैं बताना चाहता हूं कि कर्नाटक चुनाव किस तरह चला है। कांग्रेस ने सारी मर्यादाएं पार कीं।

यह भी पढ़ें:- नक्सलवाद सिमट रहा है और अपनी जमीन खो रहा है : राजनाथ

सीएम के विधानसभा क्षेत्र में इतना पैसा जब्त किया गया कि 10 विधानसभा चुनाव लड़े जा सकें। फेक आईडी कार्ड बनाने की फैक्ट्री ही घर से पकड़ी गई। लाखों लोगों की सूची पकड़ी जाती है। उनके विधायक और काउंसलर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करनी पड़ती है। कचरे के ढेर से वीवीपैट मिली हैं। इन सबके बाद भी कांग्रेस कहती है कि हम चुनाव जीते हैं।‘

जेडीएस भी वहीं जीती, जहां भाजपा कमजोर रही

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कर्नाटक की जनता ने कांग्रेस के खिलाफ जनादेश दिया। जेडीएस भी वहीं जीती, जहां भाजपा कमजोर रही है। और जहां हम मजबूत रहे हैं, वहां हम ही जीते हैं।

यह भी पढ़ें:- भारत ने किया ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण, रक्षामंत्री ने दी शुभकामनाएं

ये एंटी कांग्रेस जनादेश है। मुख्यमंत्री खुद चुनाव हारे, दूसरी सीट पर कम मार्जिन से चुनाव जीत पाए हैं। ये बताता है कि जनादेश कांग्रेस शासन के खिलाफ है। कई लोग अपप्रचार खड़ा करने का काम करते हैं कि पूर्ण बहुमत ना होने के बावजूद भाजपा ने सरकार बनाने का दावा क्यों किया।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV