5 नहीं, 6 उंगलियों वाले होते हैं लोग दिमाग और काम में काफी तेज , अपने काम में हमेशा जीत हासिल करते हैं…

आपने राह चलते कई लोगों के हाथों में पांच की जगह 6 उंगलियां देखी होगी. अक्सर लोग इस बात को बीमारी से जोड़कर देखने लगते हैं. लेकिन ठीक इसके विपरित क्या आप जानते हैं ऐसे लोग सामान्य लोगों की तुलना में बाकी लोगों से दिमाग और काम में तेज होते हैं.

उंगली

बता दें की सुनकर थोड़ी हैरानी हो सकती है लेकिन हाल ही में जर्मनी की यूनिवर्सिटी ऑफ फ्रीबर्ग एंड इंपीरियल कॉलेज के शोधकर्ताओं का तो कुछ ऐसा ही कहना है.

जानिए अब स्कूलों में सिर्फ इस आधार पर होगा शिक्षकों का तबादला…

आइए जानते हैं आखिर क्या है ये शोध और कैसे 6 उंगलियों वाले लोग 5 उंगलियों वाले लोगों से होते हैं बेहतर –

जर्मनी की यूनिवर्सिटी ऑफ फ्रीबर्ग एंड इंपीरियल कॉलेज में हाल ही में एक रिसर्च किया गया. इस रिसर्च में बताया गया कि किसी व्यक्ति के हाथ या पैर में यदि 5 की जगह 6 उंगलियां है तो इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं होता कि वो व्यक्ति किसी बीमारी से ग्रसित है. इसे विज्ञानिक भाषा में पॉलिडेक्टिली कहा जाते हैं.

5 की जगह शरीर में 6 उंगलियों के साथ पैदा होने वाले लोग 800 में से एक ही पैदा होता है. हालांकि औसतन 500 में से एक व्यक्ति सर्जरी करवाकर इसे निकलवा भी लेता है.

शोध में बताया गया कि जिन लोगों के हाथों और पैरों में छह उंगलियां होती हैं, वे पांच उंगलियों वाले लोगों की अपेक्षा ज्यादा बेहतर तरीके से किसी काम को अंजाम देते हैं. ऐसे लोगों का दिमाग भी 5 उंगलियों वालों से ज्यादा तेज गति से काम करता है.

नेचर कम्यूनिकेशन में प्रकाशित रिपोर्ट की मानें तो ज्यादातर छह उंगली वाले लोगों के हाथों में छठीं उंगली अंगूठे और तर्जनी के बीच होती है. जिसकी वजह से वो अपने रोजमर्रा के काम पांच उंगलियों वाले की तुलना में ज्यादा आसानी से कर पाते हैं. उदाहरण के लिए ऐसे लोग जूते के फीते बांधने से लेकर टाइपिंग करने और वीडियो गेम खेलने तक में ज्यादा गति के साथ काम करते हैं.

 

=>
LIVE TV