20 साल तक लिव इन में रहने के बाद शादी, 5 बच्चे बने बराती

Live-in-marriage01जेन्सी/ मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में एक प्रेमी जोड़े ने 20 साल तक लिव-इन रिलेशनशिप में रहने के बाद आखिरकार शादी कर ली. लिव इन में रहने के दौरान इनके पांच बच्चे भी हुए. अब बड़े बेटे की शादी में जोड़े से बैठकर रस्में पूरी करने के लिए इन दोनों ने सात फेरे लिए और विधि-विधान से एक-दूसरे को अपना लिया. आगे की स्लाइड में देखें, माता-पिता की शादी में बेटे बराती 

marriage630इस अनूठी शादी में सेंधवा के गंगाराम जाधव 46 साल की उम्र में दूल्हा बनें, जबकि 20 साल से लिव-इन में रहने के बाद आधिकारिक तौर पर पत्नी बनी रूपाबाई ने 42 साल की उम्र में दुल्हन पर शादी का जोड़ा पहना. इस शादी की खासियत यह रही कि गंगाराम और रूपाबाई के पांचों बच्चें अपने माता-पिता की शादी में बाराती बनकर शामिल हुए. आगे पढ़ें, बिन फेरे हम तेरे के 20 साल

दरअसल, गंगाराम की सगाई 20 साल पहले देवझिरी की रूपाबाई से हुई थी. उस वक्त परिवार की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि दोनों शादी कर सकें. इस वजह से गंगाराम का सहारा बनने के लिए रूपाबाई ने बगैर शादी के साथ रहने का फैसला लिया.

झाड़ू बना कर परिवार का पेट पालने वाले गंगाराम पर सबसे बड़े बेटे होने की वजह से परिवार की पूरी जिम्मेदारी थी. इस वजह से छोटे भाई-बहनों की शादी कराने के लिए गंगाराम और रूपाबाई ने अपनी जिंदगी दांव पर लगा दी. आगे पढ़ें, परिवार की सहमति से शादी

 
गंगाराम और रूपाबाई के पांच बच्चों में सबसे बड़े बेटे की अब शादी होना है. शादी के लिए मई का मुहुर्त तय हो हो गया है. अब बेटे की शादी में माता-पिता बनकर रस्में निभाने के लिए दोनों की शादी नहीं होना एक बड़ी अड़चन थी. इस वजह से परिवार और समाज की सहमति से दोनों 20 साल बाद आधिकारिक तौर पर रिश्तें में बंध गए.

=>
LIVE TV