फेसबुक के प्यार ने पहुँचाया थाने में

images (17)मेरठ :  दो साल पहले फेसबुक पर दोस्ती के बाद मामला मुहब्ब्त तक जा पहुंचा| इसके बाद लखनऊ की छात्रा दूसरे समुदाय के प्रेमी युवक से मिलने के लिए संभल आ गई सरेआम हाथ में हाथ डालकर युवक के साथ उसे घूमते देखकर पुलिस को संदेह हुआ तो प्रेमी युगल को हिरासत में ले लिया। कोतवाली में दोनों ने प्रेम कहानी बयां कर दी हां, यहां यह राज भी खुल गया कि युवती को प्रेमजाल में फांसने वाला युवक कोई कारोबारी नहीं बल्किएक रेस्टारेंट में काम करता है| मामला दो समुदायों का होने की वजह से पुलिस ने छात्रा को महिला पुलिस की हिरासत में भेज दिया देर रात तक युवक से कोतवाली में पूछताछ की जा रही थी| संभल के मुहल्ला हल्लू सराय स्थित एक रेस्टोरेंट में काम करने वाला युवक और लखनऊ के कृष्णानगर की बीएससी की छात्रा के बीच फेसबुक के जरिए दो साल पहले दोस्ती हुई थी युवक ने खुद को संभल का कारोबारी बताया था| अक्सर दोनों में चैटिंग के दौरान बात दोस्ती से प्यार-मुहब्बत तक जा पहुंची पिछले दिनों प्रेमी युवक ने छात्रा को संभल आने के लिए कहा तो उसने हां कर दी छात्रा परिजनों से कहकर चली कि वह दिल्ली जा रही है| घर से निकलने के बाद उसने रास्ते में प्रेमी से संपर्क साधा ठौर-ठिकाना समझने के बाद छात्रा गुरुवार शाम को संभल पहुंच गई| जब दोनों आमने सामने एक दूसरे से मिले तो भविष्य के सपने संजाने लगे प्रेमी युगल बहजोई मार्ग पर हाथ में हाथ डालकर टहलने लगा इस बीच कोतवाल यशपाल यादव की निगाह इन दोनों पर पड़ी तो उनका माथा ठनका| उन्होंने प्रेमी युगल से पूछताछ की तो दोनों हड़बड़ा गए। मामले की गंभीरता देखकर पुलिस ने प्रेमी युगल को जीप में बैठाया और कोतवाली ले गई।

युवती को देर रात महिला पुलिस की अभिरक्षा में भेज दिया गया है युवक ने दिखाए थे| बड़े सपने संभल फेसबुक पर पहले दोस्ती और फिर प्यार की दिलचस्प कहानी में युवक ने खुद को कारोबारी व अच्छे घर का बताते हुए युवती को बड़े सपने दिखाए। कहा कि वह उसे रानी बनाकर रखेगा युवती भी युवक के झांसे में आ गई और उसकी बातों पर यकीन कर अपना घर छोड़ने का फैसला कर संभल का रुख कर लिया युवती ने कहा मुझे दिल्ली जाने दो| संभल लखनऊ से संभल पहुंचने के बाद जब युवती का युवक से आमना सामना हुआ तो उसकी समझ में भी काफी कुछ आ चुका था कि युवक ने उसे झूठे सपने दिखाये थे इसी के चलते कोतवाली पहुंचते ही उसने पुलिस कर्मियों से कहा कि सर मैं दिल्ली के लिए कहकर घर से आई थी|

संवाददाता – आदेश कुमार