कुलदीप को लेकर कांग्रेसी परेशान

Kहिसार (हरियाणा)। हजकां के कांग्रेस में विलय के समय हालांकि कुलदीप बिश्नोई ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी के समक्ष कोई शर्त नहीं रखी है और कांग्रेस नेतृत्व ने उन्हें पूरे मान-सम्मान के साथ पार्टी में शामिल किया है। मगर फिर भी कुलदीप बिश्नोई द्वारा हजकां के कांग्रेस में विलय के पश्चात हरियाणा के विभिन्न क्षेत्रों में लम्बे समय से कांगे्रस की सियासत कर रहे र्पदेश के कई दिग्गज नेताओं को अभी से अपने राजनीतिक भविष्य पर खतरा मंडराता नजर आ रहा है।
पिछले विधानसभा चुनाव में हजकां के जो ५ विधायक कुलदीप बिश्नोई को धोखा देकर कांग्रेस में शामिल हुए थे, उन पांचों नेताओं को अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का टिकट मिलने में भी कुलदीप बिश्नोई रुकावट पैदा करने का प्रयास कर सकते हैं। ये पांचों पूर्व विधायक हैं हांसी से विनोद भ्याणा, दादरी सतपाल सांगवान, नारनौंद से राव नरेंर्द, समालखा से धर्मसिंह छौक्कर और असंध से जिले राम शर्मा।
राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि जिस तरह से हजकां के कांग्रेस में विलय के मौके पर कुलदीप बिश्नोर्ई व उनकी पत्नी रेणुका बिश्नोई सहित करीब २ दर्जन पूर्व सांसदों व पूर्व विधायकों ने कांगे्रस की सदस्यता ग्रहण की है, उससे कांग्रेस के उन पुराने नेताओं को अपने भविष्य की चिंता सताने लगी है, जिनके विधानसभा क्षेत्रों से कांग्रेस में शामिल होने वाले उक्त नेताओं का भी संबंध है। (हिफी)

=>
LIVE TV