Wednesday , October 18 2017

मिल गया 70 साल से खोया हिटलर का खजाना, कीमत 900 करोड़

हिटलर का खजानालंदन। 70 साल से सारी दुनिया सबसे क्रूर शासक एडोल्फ हिटलर के खजाने की तलाश में लगी हुई है। आज तक इस खजाने को ढूंढने में कोई भी सफल नहीं हो पाया। लेकिन अब लग रहा है कि हिटल को वो खोया हुआ खजाना मिल गया है। दरअसल फिल सेयर्र (61) नाम के एक तैराक ने दावा किया है कि उसने हिटलर के लापता खजाने का पता लगा लिया है। हिटलर के खजाने की कीमत तकरीबन 100 मिलियन पाउंड बताई जा रही है।

फिल का कहना है कि सोने से भरा हुआ खजाना बाल्टिक सागर के सीबेड में पानी के 450 मीटर अंदर दबा हुआ है। उन्होंने बताया कि हिटलर के खजाने को पानी के जहाज के द्वारा एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा रहा था। लेकिन सोवियत के हमले में वो जहाज पानी में डूब गया था। उस जहाज में उस वक्त 10 हजार से भी ज्यादा यात्री मौजूद थे। फिल ने बताया कि उन्हें इस बात का तब पता चला जब वो रूडी लेंज से मिले। लेंज दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हिटलर के जहाज में रेडियो ऑपरेटर के रूप में काम कर रहे थे।

हिटलर का खजानाबता दें कि 1960 से 1990 के बीच में कई लोगों ने दावा किया था कि हिटलर का खजाना उसी जहाज में था जो बाल्टिक सागर में डूब गया था। लेकिन सबूत न हो पाने की वजह से इन बातों पर कभी विश्वास नहीं किया गया। इस बार सबूत भी है और चश्मदीद भी इसलिए इस दावे को अब हवा मिल रही है कि हिटलर का खजाना मिल गया है।

हिटलर का नाम जर्मनी के इतिहास में ही नहीं, विश्व के इतिहास में अजर-अमर रहेगा। जर्मनी को शक्तिशाली साम्राज्य के रूप में स्थापित करने का सम्पूर्ण श्रेय हिटलर को जाता है।

 

 

=>

One comment

  1. हर कोई आज मोदीजी के कदम को ईसकदर गलत बताने मे लगेगे ये शायद मोदीजी को भी पता था ,कही तो शायद ये जो भारत के बर्तमाण मे उठाए कदम तो तकलीफ हो रही है ये सच हो सकता है पर भविष्य उज्जवल भारत का निश्चिंत है कि वो परिवर्ततन के साथ नयाँ समृद्ध भारत दे सकता है । आज के हर भारत के नागरिक मोदीजीको अपना सच्चा नेता मानता है जो हिम्मत दिखाई है उस हर कदमको सहराते हुए मोदीजी से यही कहता है बढे चलो ए हिन्दके सच्चे सपुत हम तुम्हारे साथ है ।

LIVE TV