हमसफर रिसॉर्ट को तोड़ने पर आजम खान की पत्नी खुलकर आईं सामने, कार्रवाई को बताया साजिश

ताज़ीन फातिमा ने कहा रिसोर्ट के पीछे की दीवार गिराई गयी, वह रिसोर्ट की दीवार नहीं है वह पीछे की खेती की जमीन की दीवार है और जो नाला वहां से गुजर रहा है वह सिंचाई विभाग ने बनवाया था ।

उन्होंने कहा जब दीवार पहले से वहां थी तो सिंचाई विभाग ने उसके अंदर नाला क्यों बनवाया और सिंचाई विभाग वालों से पूछा जाना चाहिए उनके जो अधिकारी थे उन्होंने क्यों नहीं चेक किया उन्हें चेक करना चाहिए था। प्रशासन की कार्रवाई पर सवाल खड़ा करते हुए कहा उन्होंने सिर्फ दो दिन का नोटिस दिया गया था क्या 2 दिन के नोटिस में कोई चीज तोड़ी जा सकती है और दो दिन का समय भी पूरा नहीं हुआ था और उन्होंने दीवार तोड़ दी।

ताज़ीन फातिमा के अनुसार रिसोर्ट की दीवार 25-30 साल पुरानी थी, रिसोर्ट 25- 30 साल पहले से बनना शुरू हुआ था उन्होंने कहा हम पति पत्नी की जिंदगी भर की पूरी कमाई रिसोर्ट में लगी है ।

उन्होंने प्रशासन की कार्रवाई को गलत बताते हुए कहा 30 साल पहले ग्रीन बेल्ट नहीं थी आरडीए भी नहीं था और उस वक्त की जो कार्रवाई होती थी उसके हिसाब से हमने सारे नियमों का पालन किया था ।
ताज़ीन फातिमा ने कहा जाहिर सी बात है हम हर मामले में कोर्ट ही जाएंगे। प्रशासन एक साजिश के तौर पर काम कर रहा है । डीएम ने आते ही मेरे पति अपराधी बनाते हुए उनका लाइसेंस निलंबित किया और निरस्त करने की धमकी दी और उन्हें एक अपराधिक छवि वाला घोषित किया।

यूनिवर्सिटी की सारी जमीनों की रजिस्ट्री हुई हैं और उनके चेक से पेमेंट हुए हैं अगर एक आध बीघा रह भी गया है तो हो सकता है साजिश के तहत जो लोग हैं उन्होंने छोड़ दिया हो तो उसके लिए हमने कह दिया है या वह लोग अपने पैसे ले ले या अपनी जमीन ले ले अगर उनकी जमीन पर बिल्डिंग भी बनी है तो मैं कहूंगी उसे तोड़ दें। ताज़ीन फातिमा ने मौजूदा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा प्रशासन की हर कार्यवाही एक साजिश है जो सरकार से मिलकर प्रशासन कर रहा है जिसके खिलाफ हम कोर्ट जाएंगे।

प्रशासन द्वारा आजम खान के खिलाफ बैठाई गई जांच पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए ताज़ीन फातिमा ने कहा यह जो जांच समितियां हैं यह वही तीन चार अधिकारी हैं जिन्हें डीएम अपने साथ लेकर चलते हैं एक जिले से दूसरे जिले में, और वही अधिकारी जांच करते हैं जाहिर सी बात है जांच उनकी मनमर्जी की ही होगी।

=>
LIVE TV