हत्यारोपी फौजी का पेरौकार बना मेरठ का बड़ा पुलिस अफसर, गिरफ्तारी रूकवाई

बुलंदशहर में 16 फरवरी 2016 को ससुराल आये बीएसएफ के एक फौजी ने एक किशोर की गोली मारकर हत्या कर दी. किशोर का गुनाह केवल इतना था कि फौजी ने जब किशोर को गाली देकर शराब पीने के लिए पानी मांगा तो उसने मना कर दिया था. घटना की चश्मदीद मृतक की मां है, लेकिन मेरठ में तैनात एक पुलिस अधिकारी के दबाब में बुलंदशहर पुलिस ने हत्यारोपी फौजी की गिरफ्तारी नही की है.
14 साल के अंकित उर्फ लल्ला को 16 फरवरी 2016 को बुलंदशहर के अगवाना गांव में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. एसएसपी बुलंदशहर की चौखट पर आज आंसू बहा रही मां ने अपने बेटे को बीएसएफ फौजी संजय की पिस्टल से निकली गोली का शिकार होते अपनी आंखों से देखा था. इस बेबस मां के बेटे ने बागपत निवासी फौजी संजय के शराब के पैग के लिए पानी लाने से इंकार कर दिया था. संजय ने अंकित को गालियां दी और एकाएक अपनी पिस्टल निकालकर उसे मार डाला|

=>
LIVE TV