सोने-चांदी की कीमतों में आया एक बार फिर उछाल, जानिए कितना हुआ दाम

कीमती धातुओं की वैश्विक दरों में तेजी के बीच आज भारतीय बाजारों में भी सोने और चांदी की कीमतों में तेजी दर्ज की गई। एमसीएक्स पर दिसंबर का सोना वायदा 0.28 फीसदी बढ़कर 51,073 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया, जबकि चांदी वायदा एक फीसदी बढ़कर 62496 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। पिछले सत्र में सोना 0.17 फीसदी बढ़ा था, जबकि चांदी में 0.75 फीसदी की गिरावट आई थी। 

वैश्विक बाजारों में इतना रहा दाम
वैश्विक बाजारों में आज कमजोर डॉलर और बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के कारण सोने की कीमतों में तेजी आई। सोना हाजिर 0.3 फीसदी बढ़कर 1,907.77 डॉलर प्रति औंस हो गया। डॉलर इंडेक्स 0.08 फीसदी फिसल गया, जिससे अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोना सस्ता हो गया। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.5 फीसदी बढ़कर 24.43 डॉलर प्रति औंस हो गई, जबकि प्लैटिनम 1 फीसदी चढ़कर 878.50 डॉलर और पैलेडियम 0.3 फीसदी बढ़कर 2,358.03 डॉलर हो गया।
दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण बढ़ने से निवेशकों का चिंता भी बढ़ी है, जो पहले से ही अमेरिकी चुनाव और प्रोत्साहन वार्ता को लेकर सतर्क।

सोना केंद्रीय बैंकों से व्यापक प्रोत्साहन उपायों से लाभान्वित होता है क्योंकि इसे व्यापक रूप से मुद्रास्फीति और मुद्रा में आई गिरावट के खिलाफ बचाव के रूप में देखा जाता है। भारत में सोने की कीमत अगस्त में 56,200 के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची थी।

इस संदर्भ में जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के कमोडिटी रिसर्च के प्रमुख हराश वी ने कहा कि, ‘कमजोर अमेरिकी डॉलर और वैश्विक इक्विटी में सुधार से इस सप्ताह सोने में बढ़त हो सकती है। अधिक राजकोषीय प्रोत्साहन उपायों की उम्मीदें और अमेरिका-चीन तनाव से भी इसका दाम प्रभावित होगा।’

त्योहारी सीजन में बढ़ेगी मांग
भारत में इस साल वैश्विक स्तर के अनुरूप सोने की कीमतें 25 फीसदी बढ़ी हैं। विश्लेषकों को उम्मीद है कि अमेरिकी डॉलर और सामान्य बाजार जोखिम धारणा में तेजी के आधार पर सोने की कीमत में गिरावट बनी रहेगी। विश्लेषकों के उम्मीद जताई कि भारत में सोने की मांग त्योहारी सीजन में बढ़ेगी। सोना व्यापक प्रोत्साहन उपायों से प्रभावित होता है क्योंकि इसे व्यापक रूप से मुद्रास्फीति और मुद्रा में आई गिरावट के खिलाफ बचाव के रूप में देखा जाता है। 

=>
LIVE TV