सोमवार , जून 18 2018

नरगोटा मुठभेड़ : 2 अफसरों समेत सात सैनिक शहीद

सेना की यूनिटजम्मू। जम्मू-कश्मीर के नरगोटा में मंगलवार सुबह सेना की यूनिट पर हुए आतंकवादी हमले में 2 अफसर समेत 7 सैनिक शहीद हो गए। वहीं, जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादियों को भी मार गिराया। सेना की उत्तरी कमान के बयान जारी कर बताया है कि मंगलवार सुबह हथियारों से लैस आतंकवादियों ने पुलिस की वर्दी में सेना की यूनिट पर हमला बोल दिया। आतंकियों ने 12 जवानों, 2 महिलाओं और 2 बच्चों को बंधक बना लिया था। हालांकि, बंधकों को छुड़ा लिया गया है।

सेना ने अपने बयान में बताया है कि मंगलवार की सुबह, भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों के एक समूह ने पुलिस की यूनिफॉर्म में आर्मी यूनिट पर हमला किया। यह आर्मी यूनिट नरगोटा कॉर्प्स हेडक्वॉर्टर से तीन किलोमीटर की दूरी पर है। आतंकवादी फायरिंग करते हुए और ग्रेनेड फेंकते हुए ऑफिसर्स मेस कॉम्प्लेक्स में दाखिल हो गए। शुरुआती जबावी कार्रवाई में, एक अफसर और तीन जवान शहीद हो गए। इसके बाद आतंकवादी दो इमारतों में दाखिल हो गए, जहां अफसर अपने परिवार के साथ मौजूद थे। ऐसे में बंधक संकट जैसी स्थिति पैदा हो गई। त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया। इनमें 12 सैनिक, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल थे। हालांकि, इस रेस्क्यू के दौरान एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए। तीन आतंकवादियों के शव बरामद किए गए हैं और पूरे इलाके की तलाशी के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

बता दें कि नगरोटा में सेना की अहम यूनिट है और यह हाइवे के नजदीक भी है। हमले के बाद जम्मू-श्रीनगर नैशनल हाईवे बंद कर दिया गया था। जिला प्रशासन ने सभी स्कूलों को भी एहतियात के तौर पर बंद करवा दिया था। नगरोटा का यह इलाका रणनीतिक रूप से काफी अहम है। यह सेना का 16 कोर हेडक्वॉर्टर एरिया है।

=>
LIVE TV